वायनाड से राहुल गांधी के चुनाव लड़ने पर कांग्रेस के 'पुराने दोस्त' नाराज, कहा- अब हम हराने का काम करेंगे

केरल की वायनाड सीट से चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद लेफ्ट नेता प्रकाश करात ने राहुल गांधी पर हमला बोला है.

वायनाड से राहुल गांधी के चुनाव लड़ने पर कांग्रेस के 'पुराने दोस्त' नाराज, कहा- अब हम हराने का काम करेंगे

प्रकाश करात ने राहुल गांधी पर बोला हमला.

नई दिल्ली:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) इस बार यूपी की अमेठी और केरल की वायनाड सीट से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. कांग्रेस पार्टी ने रविवार को इसका औपचारिक ऐलान किया कि राहुल गांधी अमेठी के साथ-साथ वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ेंगे. वामपंथ का मजबूत गढ़ कहे जाने वाले केरल में वायनाड सीट कांग्रेस का सबसे मजबूत गढ़ है और उम्मीद की जा रही है कि राहुल गांधी की सीट यहां सुरक्षित है. हालांकि, केरल के वायनाड से राहुल गांधी की उम्मीदवारी पर कभी कांग्रेस की सहयोगी रह चुकी लेफ्ट पार्टी सीपीआई नाराज हो गई है. बीजेपी से पहले ही सीपीआई ने कांग्रेस पर हमला बोला है. 

सीपीआई(एम) के पूर्व महासचिव प्रकाश करात ने कहा कि वायनाड से राहुल गांधी को मैदान में उतारने का कांग्रेस का निर्णय यह दिखाता है कि केरल में अब वाम दलों के खिलाफ लड़ना ही उनकी प्राथमिकता है. यह भाजपा के खिलाफ लड़ने के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रतिबद्धता के खिलाफ है, क्योंकि केरल में सिर्फ एलडीएफ ही है, जो भाजपा से लड़ने वाली मुख्य ताकत है.

प्रकाश करात ने आगे कहा कि लेफ्ट के खिलाफ राहुल गांधी जैसे उम्मीदवार को चुनने का मतलब है कि कांग्रेस केरल में वामपंथियों को निशाना बनाने जा रही है. यह ऐसी चीज है जिसका हम पुरजोर विरोध करेंगे और इस चुनाव में हम वायनाड में राहुल गांधी की हार सुनिश्चित करने के लिए काम करेंगे.

वायनाड से चुनाव लड़ रहे राहुल गांधी को लेकर केरल के सीएम पी विजयन ने कहा कि वह (केरल में) 20 निर्वाचन क्षेत्रों में से एक में लड़ रहे हैं और उन्हें किसी भी अलग रूप में देखने की आवश्यकता नहीं है. हम उनसे लड़ेंगे. उन्हें उस निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ना चाहिए जहां भाजपा चुनाव लड़ रही है, यह वामपंथ के खिलाफ लड़ाई के अलावा और कुछ नहीं है. 

बता दें कि रविवार की सुबह कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एके एंटोनी ने कहा कि ये बेहद खुशी की बात है. पिछले कई हफ्ते से मांग उठ रही थी कि राहुल गांधी दक्षिण भारत से भी चुनाव लड़ें. केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक से मांग आ रही थी. इस पर विचार विमर्श के बाद तय हुआ है कि राहुल (Rahul Gandhi) वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ेंगे. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि अमेठी से राहुल का रिश्ता बेजोड़ है. सिर्फ प्रतिनिधि के तौर पर उनका अमेठी से रिश्ता नहीं है. 

वीडियो- 'आप' का हाथ थाममेगी कांग्रेस?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com