प्रियंका गांधी के 'वोट काटने वाले' बयान के बाद अब कांग्रेस की जीत की मंशा पर ही उठने लगे सवाल!

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के इस बयान ने अब कांग्रेस पार्टी की उस मंशा पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं, जिसमें पार्टी फ्रंट फूट पर खेलते हुए हर राज्य में अपने बल बेहतर प्रदर्शन कर सत्ता में आने का दम भर रही थी.

प्रियंका गांधी के 'वोट काटने वाले' बयान के बाद अब कांग्रेस की जीत की मंशा पर ही उठने लगे सवाल!

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने वोट काटने को लेकर दिया बयान

खास बातें

  • प्रियंका गांधी ने अमेठी दिया बयान
  • यूपी में जीत को लेकर प्रियंका गांधी ने दिया था बयान
  • प्रियंका गांधी के बयान से कांग्रेस की मंशा पर ही उठने लगे सवाल
नई दिल्ली:

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने बुधवार को यूपी में बड़ा बयान दिया. उन्होंने (Priyanka Gandhi) कहा कि हर सीट जीतने के लिए नहीं होती है और हारने वाली सीटों पर हमनें वोट काटने वाले कैंडिडेट्स को उतारा है ताकि बीजेपी के वोट काटे जा सकें. प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के इस बयान ने अब कांग्रेस पार्टी की उस मंशा पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं, जिसमें पार्टी फ्रंट फूट पर खेलते हुए हर राज्य में अपने बल बेहतर प्रदर्शन कर सत्ता में आने का दम भर रही थी. बता दें कि लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा था कि उनकी पार्टी देश के हर राज्य में फ्रंट फूट पर खेलने वाली है. उन्होंने (Rahul Gandhi) कहा था कि हमारी पार्टी देश की सबसे बड़ी और पुरानी पार्टी है. लिहाजा हम प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आने के लिए इस चुनाव में उतरेंगे.

अमेठी में आमने-सामने होंगे प्रियंका और योगी, यूपी और बिहार में PM मोदी की रैली

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 के पांचवें चरण में होने वाले मतदान से पहले प्रियंका गांधी लगातार चुनावी प्रचार कर रही हैं और अलग-अलग संसदीय क्षेत्र में पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए घुम-घुम कर वोट मांग रही हैं. प्रियंका गांधी ने अमेठी में बुधवार को कहा कि 'देखिए यहां पर काम बहुत है. अगर मैं वाराणसी से लड़ती तो वाराणसी तक सीमित रहती. जबकि मेरा काम पूर्वी यूपी में उससे कहीं ज्यादा है. हर उम्मीदवार चाहते हैं कि मैं उनके लिए जाकर प्रचार करूं, मैं उन्हें निराश भी नहीं करना चाहती. मैंने शुरू से कहा था कि जो पार्टी निर्णय लेगी, वही करूंगी. अगर वो चाहते मैं लड़ूं तो मैं लड़ती, ना चाहती तो मैं नहीं लड़ती.' 

लोकसभा चुनाव 2019 : क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विपक्ष ने 'वॉक ओवर' दे दिया?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने आगे कहा कि 'मैंने बहुत बार कहा था कि मैं बहुत खुश होउंगी अगर मुझे पूर्वी उत्तर प्रदेश का सिर्फ काम करने दे. प्रियंका गांधी अपने लिए थोड़े ही जा रही है राजनीति में? कांग्रेस का संगठन कमजोर है यहां, हमें मजबूत बनाना है. राजनीति सिर्फ जीतने के लिए थोड़ी होती है? मेरी रणनीति बिलकुल स्पष्ट है, 2019 में बीजेपी को यहां से हराना, यूपी से हराना. बिलकुल बीजेपी यूपी में बुरी तरह पीछे जाएगी, बहुत बुरी तरह हारेगी. ये बिलकुल स्पष्ट है कि यहां हमारे उम्मीदवार अच्छा लड़ रहे हैं. जहां उम्मीदवार मजबूत हैं, वहां कांग्रेस जीतेगी. जहां हमारे उम्मीदवार थोड़े हल्के हैं, वहां हमने ऐसे उम्मीदवार दिए हैं, जो बीजेपी का वोट काटे. कांग्रेस बीजेपी का वोट काटेगी.'

पक्ष विपक्ष : प्रियंका गांधी का वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ना- सही या ग़लत​