कर्नाटक में चुनाव आयोग के ब्रांड एंबेसडर राहुल द्रविड़ खुद नहीं डाल पाएंगे वोट, जानें वजह

पूर्व क्रिकेटर और कर्नाटक मेें चुनाव आयोग के ब्रांड अंबेसडर राहुल द्रविड़ इस बार लोकसभा चुनाव 2019 में अपना वोट नहीं डाल पाएंगे.

कर्नाटक में चुनाव आयोग के ब्रांड एंबेसडर राहुल द्रविड़ खुद नहीं डाल पाएंगे वोट, जानें वजह

लोकसभा चुनाव 2019 में वोट नहीं डाल पाएंगे राहुल द्रविड़

नई दिल्ली:

पूर्व क्रिकेटर और कर्नाटक मेें चुनाव आयोग के ब्रांड एंबेसडर राहुल द्रविड़ इस बार लोकसभा चुनाव 2019 में अपना वोट नहीं डाल पाएंगे. पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान राहुल द्रविड़ मतदाता सूची में अपना नाम न होने के चलते 18 अप्रैल को होने वाले लोकसभा चुनाव में मतदान नहीं कर पाएंगे. एक सीनियर पोलिंग ऑफिसर ने एनडीटीवी को कहा कि राहुल द्रविड़ ने डेडलाइन खत्म होने से पहले ट्रांसफर होने के बाद मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन जमा नहीं किया. 

शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा-'सरजी' चुनाव में ये क्या हो रहा है?

दरअसल, राहुल द्रविड़ का नाम पहले बैंगलोर सेंट्रल लोकसभा क्षेत्र के मतदाताओं की सूची में दर्ज था, जहां वह इंदिरा नगर में अपने पैतृक घर में रहते थे. वहां से मलेश्वरम शिफ्ट होने के बाद उन्होंने इस निर्वाचन क्षेत्र के वोटर लिस्ट में अपना नाम नहीं जुड़वाया. बेंगलुरू नगर निगम के अधिकारी एल. सुरेश ने कहा, "द्रविड़ ने पूर्वी उपनगर में अपने माता-पिता के घर से उत्तरी बेंगलुरू शिफ्ट होने के बाद मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज नहीं कराया है. मतदाता सूची में नाम दर्ज करवाने की आखिरी तारीख 16 मार्च थी.' 

लोकसभा चुनाव 2019: कैसे काम करती है VVPAT मशीन?

राहुल द्रविड़ मई 2018 के कर्नाटक विधानसभा चुनाव में मतदाताओं को लुभाने के लिए चुनाव आयोग के एम्बेसेडर भी थे. द्रविड़ का नाम पिछले निर्वाचन क्षेत्र (बैंगलोर सेंट्रल) से हटा दिया गया था, क्योंकि उनके भाई ने निगम अधिकारियों को बताया था कि विधानसभा चुनाव के बाद वह उत्तरी बेंगलोर के उपनगर में शि़फ्ट हो गए हैं.

सुरेश ने कहा, "द्रविड़ शहर से बाहर थे और लंबे समय से विदेश यात्रा पर थे. उन्होंने एक जनवरी 2019 से पहले फॉर्म-6 नहीं भरा था. इसके बाद 16 मार्च को मतदाताओं की अंतिम सूची प्रकाशित हुई थी." इस बीच, कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ के अधिकारियों ने कहा कि द्रविड़ इस समय स्पेन में हैं. 

Newsbeep

How to vote India: SMS से चेक करें वोटर लिस्ट में अपना नाम, जानिए पोलिंग बूथ पर कैसे देना है Vote

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बीबीएमपी प्रमुख एन मंजूनाथ प्रसाद ने कहा कि मतदान अधिकारी प्रक्रिया के अनुसार सत्यापन के लिए तीन बार राहुल द्रविड़ के नए घर गए. लेकिन तीनों बार विदेश में होने की वजह से उन्होंने फिजिकल सत्यापन के लिए उपस्थित नहीं हो पाए और फॉर्म भर नहीं भरा.