NDTV Khabar

'राम मंदिर-बाबरी मस्जिद' बयान पर चुनाव आयोग का नोटिस भी मिला, फिर भी प्रज्ञा बोलीं- मैं अपने बयान पर अडिग हूं

लोकसभा चुनाव 2019 में मध्य प्रदेश के भोपाल सीट से बीजेपी उम्मीदवार और मालेगांव ब्लास्ट में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपने बयानों को लेकर लगातार सुर्खियों में हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'राम मंदिर-बाबरी मस्जिद' बयान पर चुनाव आयोग का नोटिस भी मिला, फिर भी प्रज्ञा बोलीं- मैं अपने बयान पर अडिग हूं

प्रज्ञा सिंह ठाकुर (फाइल फोटो)

भोपाल:

लोकसभा चुनाव 2019 में मध्य प्रदेश के भोपाल सीट से बीजेपी उम्मीदवार और मालेगांव ब्लास्ट में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपने बयानों को लेकर लगातार सुर्खियों में हैं. मुंबई आतंकी हमले के हीरो शहीद हेमंत करकरे के खिलाफ अपमानजक बयान देने के बाद प्रज्ञा ठाकुर ने बाबरी मस्जिद को लेकर एक बयान दिया है. प्रज्ञा ने कहा है कि बाबरी मस्जिद गिराए जाने पर उन्हें गर्व है. बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने का अफसोस नहीं है, ढांचा गिराने पर तो हम गर्व करते हैं. हमारे प्रभु रामजी के मंदिर पर अपशिष्ट पदार्थ थे, उनको हमने हटा दिया. हालांकि, इस बयान पर भी चुनाव आयोग ने सख्ती दिखाई है और प्रज्ञा को नोटिस जारी किया है. मगर चुनाव आयोग का एक और नोटिस मिलने के बाद भी प्रज्ञा ठाकुर अपने बाबरी मस्जिद वाले बयान पर अडिग हैं और उनका कहना है कि वह इस बयान पर कायम रहेंगी. 

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर: लड़कों जैसे कटे बाल, भगवा वस्त्र, गले में रूद्राक्ष पहनी 'हिंदुत्व' की प्रचारक


जब रविवार को पत्रकारों ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर से बाबरी मस्जिद वाले बयान पर सवाल पूछा तो प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कि मैं सन्यासी हूं, मैं अपने धर्म की बात कर रही हूं, अपने प्रभू राम की बात कर रही हूं, अगर इसमें किसी को तकलीफ होती है तो होने दो. मैं राजनीति में धर्म का इस्तेमाल कर रही हूं. मैंने जो कहा है उस पर अडिग हूं. राम मंदिर पर हम सब मिलकर विजन तैयार करेंगे. 

फिर मुसीबत में घिरीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, अब इस बयान को लेकर मिला चुनाव आयोग का नोटिस

जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या आपको हेमंत करकरे के बाद राम मंदिर-बाबरी मस्जिद वाले बयान पर नोटिस मिला है तो प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कि हां मुझे राम मंदिर-बाबरी मस्जिद वाले बयान पर भी चुनाव आयोग का नोटिस मिला है. उसका जवाब बिलकुल कानूनी तौर पर विधिवत दिया जाएगा. साध्वी प्रज्ञा ने फिर दोहराया कि मैं ढांचा तोड़ने गई थी. राम जी मेरे आदर्श हैं. भव्य राम मंदिर बनाने से कोई रोक नहीं सकता मैं अयोध्या गई थी, ढांचा तोड़ा था. मैं राम मंदिर बनाने जाऊंगी. मैं भव्य मंदिर बनाउंगी. 

दरअसल, साध्वी प्रज्ञा ने शनिवार को भोपाल में कैंपेन के दौरान एक टीवी चैनल पर बाबरी मस्जिद को लेकर यह टिप्पणी की और इसकी वजह से एक बार फिर बाबरी मस्जिद विध्वंस की घटना राजनीतिक गलियारों में ताजा हो गई. टीवी चैनल से साध्वी प्रज्ञा ने कहा था, 'राम मंदिर निश्चित रूप से बनाया जाएगा. यह एक भव्य मंदिर होगा.' यह पूछे जाने पर कि क्या वह राम मंदिर बनाने के लिए समयसीमा बता सकती हैं, तो प्रज्ञा ने कहा, 'हम मंदिर का निर्माण करेंगे. आखिरकार, हम ढांचा (बाबरी मस्जिद) को ध्वस्त करने के लिए भी तो गए थे.' साध्वी प्रज्ञा ने बाबरी मस्जिद में अपनी अहम भूमिका पर भी प्रकाश डाला और कहा, 'मैंने ढांचे पर चढ़कर तोड़ा था. मुझे गर्व है कि ईश्वर ने मुझे अवसर दिया और शक्ति दी और मैंने यह काम कर दिया. अब वहीं राम मंदिर बनाएंगे.' 

मालेगांव केस की पूर्व सरकारी वकील का खुलासा: साध्वी प्रज्ञा के साथ टॉर्चर के सबूत नहीं, शहीद करकरे पर आरोप 'घटिया हरकत'

साध्वी के इस बयान के चंद घंटों के अंदर ही चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस थमा दिया. नोटिस दिए जाने से पहले सभी राजनीतिक पार्टियों के लिए एक अडवाइजरी भी जारी की गई थी, जिसमें कहा गया, 'एक-दूसरे के प्रति जो ढेरों शिकायतें मिल रही हैं वे इस ओर साफ-साफ इशारा कर रही हैं कि नेता भड़काऊ और विवादित बयान दे रहे हैं, जिससे समाज में नफरत और असंगति फैल सकती है. 

टिप्पणियां

VIDEO : प्रज्ञा ठाकुर ने वापस लिया बयान



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement