NDTV Khabar

तेजस्‍वी यादव ने जारी की उम्‍मीदवारों की सूची- सारण से चंद्रिका राय, सीवान से हिना साहिब, बेगूसराय से तनवीर हसन होंगे RJD उम्‍मीदवार

हाजीपुर से शिव चंदर राम को आरजेडी ने मैदान में उतारा है. इस सीट पर राम विलास पासवान चुनाव जीतते रहे हैं. इस बार राम विलास पासवान चुनाव मैदान में नहीं होंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. महागठबंधन की सीटों का ऐलान
  2. शहाबुद्दीन की पत्नी को मिला टिकट
  3. लालू के समधी को भी टिकट
नई दिल्ली:

राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने उम्‍मीदवारों की एक और सूची (RJD Candidate list) जारी की है. इस सूची में शिवहर और आरा के लिए किसी उम्‍मीदवार का जिक्र नहीं है. सीवान सीट पर आरजेडी ने इस बार भी शहाबुद्दीन की पत्‍नी हिना साहिब पर दांव लगाया है. इस सूची में दरभंगा से मोहम्‍मद अली अशरफ फातमी की जगह अब्‍दुल बारी सिद्दीकी को टिकट दिया गया है. यहां से पहले आरजेडी की टिकट पर मोहम्‍मद अली अशरफ फातमी कई बार चुनाव जीत चुके हैं. अब्‍दुल बारी सिद्दीकी इससे पहले 2009 में मधुबनी से लोकसभा चुनाव के लिए मैदान में उतरे थे लेकिन जीत नहीं पाए थे. वे अभी दरभंगा के अलीपुर से विधायक हैं.

आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने उम्‍मीदवारों की जो सूची (RJD Candidate list) जारी की है उसमें सारण लोकसभा सीट से चंद्रिका राय को टिकट दिया गया है. यहां से अभी बीजेपी के राजीव प्रताप रुडी सांसद हैं जो 2014 के लोकसभा चुनाव में  आरजेडी की राबड़ी देवी को पराजित किया था. 2004 में इस सीट पर लालू प्रसाद यादव जीते थे. कहा जाए तो यहां से लालू प्रसाद के परिवार से ही लोग चुनाव लड़ते और जीतते रहे है. हालांकि 2009 में शरद यादव ने लालू को यहीं से हराया था. अबकी बार लालू प्रसाद यादव के समधी चंद्रिका राय को मुकाबले के लिए उतारा गया है. लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव के साथ चंद्रिका राय की बेटी ऐश्‍वर्या राय की शादी हुई है. हालांकि यह शादी अभी विवादों में घिरी है और दोनों के बीच तलाक को लेकर मामला कोर्ट में लंबित है.


Lok Sabha Election 2019 : महागठबंधन के प्रत्याशियों का ऐलान, यहां देखें पूरी लिस्ट

odf6m24o

हाजीपुर से शिव चंदर राम को आरजेडी ने मैदान में उतारा है. इस सीट पर राम विलास पासवान चुनाव जीतते रहे हैं. इस बार राम विलास पासवान चुनाव मैदान में नहीं होंगे. पाटिलपुत्र सीट पर लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी मीसा यादव चुनाव लड़ रही हैं. पिछले चुनाव में इस सीट को लेकर काफी बवाल मचा था. उसी दौरान राम कृपाल यादव आरजेडी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे और मीसा भारती के खिलाफ चुनाव लड़े थे. चुनाव में मीसा की हार हुई थी. पाटिलपुत्र सीट जीतने के बाद राम कृपाल यादव को नरेंद्र मोदी ने अपनी मंत्रिमंडल में शामिल किया था.

आरजेडी के वरिष्‍ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह वैशाली से चुनाव लड़ रहे हैं. रघुवंश प्रसाद यहां से कई बार चुनाव जीत चुके हैं. इन्‍हीं के नेतृत्‍व में यूपीए ने अपनी सबसे कामयाब योजनाओं में से एक मनरेगा को धरातल पर उतारा था. रघुवंश प्रसाद यादव गणित के प्रोफेसर रहे हैं. सीतामढ़ी से अर्जुन राय चुनाव मैदान में हैं. बिहार विश्‍वविद्यालय की छात्र राजनीति के रास्‍ते बिहार की राजनीति में कदम रखने वाले अर्जुन राय जेडीयू से 2009 में यहां से चुनाव जीते थे. 2014 के चुनाव में एनडीए के उम्‍मीदवार ने इस सीट पर जीत दर्ज की थी.  

तेजप्रताप यादव ने छात्र RJD संरक्षक पद से दिया इस्तीफ़ा, लालू परिवार का टेंशन बढ़ा

मधेपुरा से शरद यादव को मैदान में उतरा गया है. चुनाव बाद उनकी पार्टी का विलय आरजेडी में हो जाएगा और इसी कारण उन्‍हें आरजेडी के चुनाव चिह्न पर मैदान में उतारा गया है. लालू प्रसाद यादव ही शरद यादव को बिहार की राजनीति में लाए थे. शरद यादव चार बार लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं और तीन बार जेडीयू की तरफ से राज्‍यसभा में सांसद रह चुके हैं. बाद में जेडीयू से इन्‍हें बाहर कर दिया गया. इसके बाद शरद यादव ने खुद की पार्टी बनाने की घोषणा की. शरद यादव मूल रूप से मध्‍यप्रदेश के रहने वाले हैं. आचार्य कृपलानी 1957 में मधेपुरा से लोकसभा सांसद निर्वाचित हुए थे उसी मधेपुरा से शरद यादव ने 1991, 1996, 1999 और 2009 में लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचे. 1999 में लालू प्रसाद यादव को यहां से हार का मुंह देखना पड़ा था.

बेगूसराय से आरजेडी ने इस बार भी तनवीर हसन पर दांव लगाया है. पहले यह कयास लगाए जा रहे थे कि इस सीट पर जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्‍यक्ष कन्‍हैया कुमार को आरजेडी एवं अन्‍य विपक्षी दल समर्थन देंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ. बीजपी ने इस सीट पर गिरिराज किशोर सिंह का उतारा है. आरजेडी की घोषणा के बाद यहां त्रिकाणीय मुकाबला तय है.

बिहार : कांग्रेस और राजद के बीच अब भी फंसा है पेंच, जानें- क्या है पूरा मामला

टिप्पणियां

गौरतलब है बिहार में हुए गठबंधन में आरजेडी को 20, कांग्रेस को 9, आरएलएसपी को 5, एचएएम को 3, वीआईपी को 3 सीट मिली है. आरजेडी नेता तेजस्‍वी ने यह साफ किया कि अपने कोटे से आरा की सीट सीपीआईएमएल को दे रहे हैं. इस प्रेस क्रॉन्फ्रेंस में कांग्रेस की ओर से कोई बड़ा नेता शामिल नहीं हुआ था. तेजस्‍वी यादव ने प्रेस क्रॉन्फ्रेंस  में कहा कि कांग्रेस के नेता इसमें शामिल होने वाले थे लेकिन आने में देरी हो रही थी इसलिए हमने प्रेस क्रॉन्फ्रेंस शुरू कर दी. उन्‍होंने कहा कि गठबंधन को लेकर कुछ लोग गलत बातें फैला रहे थे कि यह चलने वाला नहीं है लेकिन वे इसमें सफल नहीं होंगे.

VIDEO: महागठबंधन के प्रत्याशियों का तेजस्वी यादव ने किया ऐलान​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement