NDTV Khabar

शकील अहमद को कांग्रेस ने मधुबनी से निर्दलीय चुनाव लड़ने की वजह से किया निलंबित, जानें पूरा मामला

Shakeel Ahmad News: शकील अहमद (Shakeel Ahmad) को मधुबनी (Madhubani Lok Sabha Seat) से निर्दलीय चुनाव लड़ने को लेकर कांग्रेस (Congress) ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शकील अहमद को कांग्रेस ने मधुबनी से निर्दलीय चुनाव लड़ने की वजह से किया निलंबित, जानें पूरा मामला

Shakeel Ahmad News: शकील अहमद कांग्रेस से हुए निलंबित.

खास बातें

  1. शकील अहमद को कांग्रेस ने किया निलंबित
  2. पार्टी के निर्णय के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं शकील अहमद
  3. पार्टी ने विज्ञप्ति जारी कर तत्काल प्रभाव से किया निलंबित
नोएडा:

शकील अहमद (Shakeel Ahmad) को मधुबनी (Madhubani Lok Sabha Seat) से निर्दलीय चुनाव लड़ने को लेकर कांग्रेस (Congress) ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया. कांग्रेस ने विज्ञप्ति जारी कर शकील अहमद (Shakeel Ahmad Suspended) को पार्टी से निलंबित करने की जानकारी दी. शकील अहमद (Shakeel Ahmad) के अलावा पार्टी ने बिहार के बेनीपट्टी से विधायक भावना झा को भी निलंबित किया गया है. भावना को पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए निलंबित किया गया है. बता दें कि शकील अहमद (Shakeel Ahmad) ने हाल ही में कांग्रेस प्रवक्‍ता पद से इस्‍तीफा दे दिया था और बिहार के मधुबनी से निर्दलीय उम्‍मीदवार के रूप में लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन किया था. शकील अहमद  (Shakeel Ahmad News)  का यह कदम बिहार में महागठबंधन की मुश्किलें बढ़ाने वाला था, क्योंकि मधुबनी सीट बंटवारे के तहत विकासशील इंसान पार्टी (VIP) को मिली थी.


यह भी पढ़ें: लोगों ने भाजपा की ध्रुवीकरण की नीति को ठुकरा दिया : कांग्रेस

इससे पहले शकील अहमद ने कहा था, 'मैंने पार्टी (कांग्रेस) के चिन्ह के लिए आग्रह किया था. मेरा राहुल जी से संवाद हुआ था. कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल जी से मेरी बातचीत भी हुई थी. उन्होंने कहा, 'मैंने आग्रह किया था कि जिस तरह से चतरा में हमारे उम्मीदवार के खिलाफ राजद ने दोस्ताना मुकाबले के रूप में अपना उम्मीदवार खड़ा किया है. उसी तरह से मधुबनी में मुझे पार्टी का चिन्ह (कांग्रेस) देकर दोस्ताना मुकाबले में उतरने की अनुमति दी जाए.' कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा था कि दूसरा सुपौल का भी उदाहरण है जहां कांग्रेस उम्मीदवार रंजीत रंजन के खिलाफ राजद ने एक निर्दलीय का समर्थन किया है, उसी तरह से मुझे निर्दलीय के रूप में पार्टी (कांग्रेस) समर्थन दे सकती है.

यह भी पढ़ें: बिहार के चुनाव परिणामों को लेकर मोदी पर कांग्रेस का हमला

टिप्पणियां

बता दें कि इस बार महागठबंधन के घटक दलों में से एक विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) को मधुबनी सीट मिली है. वीआईपी ने बद्री पुर्बे को मधुबनी से अपना उम्मीदवार बनाया है. पूर्वे का मुकाबला भाजपा ने दिग्गज सांसद हुकुमदेव नारायण यादव के बेटे अशोक यादव से है. शकील अहमद 1998 और 2004 में मधुबनी सीट से लोकसभा सदस्य रहे थे. वे 1985, 1990 और 2000 में विधायक चुने गए थे. शकील ने राबड़ी देवी के नेतृत्व वाली बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री के रूप में कार्य किया तथा 2004 में केंद्र में सत्तासीन रहे मनमोहन सिंह की सरकार में संचार, आईटी और गृह मंत्रालय में राज्य मंत्री रहे थे. 

VIDEO: कांग्रेस प्रवक्ता पद से शकील अहमद का इस्तीफा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement