NDTV Khabar

NDTV EXCLUSIVE: शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा- कांग्रेस में शामिल होने से पहले इन पार्टियों ने भी दिया था ऑफर 

शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने कहा कि मैंने कांग्रेस इसलिए ज्वाइन किया क्योंकि महात्मा गांधी, नेहरू, पटेल , इंदिरा गांधी, राजीव, राहुल की यह पार्टी रही है जिसका देश के आजादी में बहुत बड़ा योगदान रहा है. दूसरी बात यह मुख्यधारा की पार्टी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NDTV EXCLUSIVE: शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा- कांग्रेस में शामिल होने से पहले इन पार्टियों ने भी दिया था ऑफर 

शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

खास बातें

  1. आज बीजेपी में सिर्फ तानाशाही बची है
  2. आडवाणी जी की अनदेखी पार्टी के लिए सही नहीं
  3. पटना साहिब से टिकटन न मिलने की वजह छोड़ी पार्टी
नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से कांग्रेस में शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने NDTV से खास बातचीत की. इस दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने बीजेपी छोड़ने से लेकर बीजेपी में लालकृष्ण आडवाणी और अन्य बड़े नेताओं की अनदेखी पर भी बात की. साथ ही उन्होंने (Shatrughan Sinha) यह भी बताया कि आखिर वह एक कौन सी वजह से थी जिसने उन्हें बीजेपी को छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया.  NDTV से बातचीत में शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस में शामिल होने से पहले उनके पास कई पार्टियों से ऑफर था. उन्होंने (Shatrughan Sinha) कहा कि मेरे पास आप, ममता बनर्जी, मायावती, अखिलेश जी की तरफ से पार्टी ज्वाइन करने का ऑफर था. साथ ही लालू जी की फैमिली से भी न्यौता मिला था. लेकिन मैं उनकी पार्टी में नहीं गया. इसकी एक वजह तो यह है कि मैं किसी नेशनल पार्टी से ही जुड़ना चाहता था. बीजेपी छोड़ने को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने कहा कि मैंने पार्टी छोड़ने से पहले मैं ट्वीट किया था कि अगर आप मुझे हटाते हैं तो न्यूटन का वह लॉ भी याद रखियेगा जिसमें कहा गया है कि हर एक्शन की प्रतिक्रिया होती है. मेरे इस ट्वीट की वजह से ही वह मुझे पार्टी से बाहर नहीं निकाल पाए.

शत्रुघ्न सिन्हा का पूरा इंटरव्यू देखने के लिए यहां क्लिक करें...


भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा, बोले- बीजेपी 'वन मैन शो' और 'टू मैन आर्मी' बनी

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि पार्टी छोड़ने का निर्णय तब लिया था जब मेरी जगह रविशंकर प्रसाद को पटनासाहिब से टिकट दे दिया गया. उन्होंने कहा कि रविशंकर प्रसाद को टिकट दिए जाने के बाद ही मैंने सोच लिया था कि अब बहुत हो चुका है, मैं अब पार्टी में नहीं रह सकता.  मैंने यह देखा था कि पार्टी बड़े नेताओं जैसे मुरली मनोहर जोशी, आडवाणी जी और जशवंत सिन्हा के साथ भी बुरा बर्ताव कर चुकी है. शुत्रघ्न सिन्हा ने कहा कि मैंने पहले ही पार्टी से कहा था कि मुझे निकालना है तो निकाल दो लेकिन मैं खुद नहीं जाऊंगा. लेकिन मैं खुदसे पार्टी इसलिए छोड़ी क्योंकि मेरी जगह पटना साहिब से रविशंकर प्रसाद को टिकट दिया गया. उन्होंने कहा कि मेरी पहली पसंद पटना थी दूसरी भी पटना भी औऱ तीसरी भी पटना साहिब थी. मैं रविशंकर प्रसाद के खिलाफ नहीं हूं, वो मेरे अच्छे दोस्त हैं. लेकिन मैं पार्टी के फैसले से नाराज था. 

कांग्रेस में शामिल होने से पहले शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी को दी सलाह, कहा- अपने भाषण में तो..

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि आज लोग समझते हैं जिस पार्टी के लिए हमनें जान दिया है. आज वही पार्टी आडवाणी जी जैसे बड़े नेता का अपमान कर रही है. आडवाणीजी -मुरली मनोहर जोशी जी के पास कहीं और जाने का विकल्प भी नहीं है. पर मेरे पास था. आडवाणी जी के साथ जो बीजेपी के नेता कर रहे हैं वह गलत है. उन्होंने कहा कि बीजेपी को दो सीटों से दो सौ सीटों तक पहंचाने ने आडवाणी जी का योगदान है. पार्टी के वरिष्ट नेताओं ने यही हाल अरुण शौरी के साथ किया, मुरली मनोहर जी के साथ किया. यह सब सोचने की जरूरत है, लोग देख रहे हैं. बीजेपी में वन मैन शो है टू मैन आर्मी है. बीजेपी के बड़े नेताओं में घबराहट है. आज की बीजेपी सरकार में कोई केंद्रीय मंत्री काम के नहीं है. बच्चे को भी पांच मंत्री का नाम याद नहीं. क्योंकि सारा काम पीएमओ से हो रहा है. हम भी मंत्री रहे थे लेकिन हमें किसी ने कुछ करने से नहीं रोका न ही उस समय हमारा काम पीएमओ से होता था. 

जानिए किसकी सलाह पर कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं बीजेपी के बागी शत्रुघ्‍न सिन्‍हा...

शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि जो लोग अपनी ही बात नहीं रख सके, अपने वादे ही पूरे नहीं कर सके, जो किसानों की हालत ही नहीं सुधार सके, चाहे 15 लाख कहो या दो करोड़ रोजगार की बात कहो. वो सब जो नहीं कर सके. जो देश की पुकार नहीं सुन रहा है. जो अपने लोगों से बात तक नहीं कर रहा है. रातों-रात जो बैगर किसी से पूछे बगैर नोटबंदी कर दे वो हमारी बात क्या सुनेंगे. चाहे जीएसटी की हो या फिर राफेल की बात हो सब क्षेत्र में बीजेपी फेल है.

पापा शत्रुघ्न सिन्हा की बात करते हुए इमोशनल हुईं सोनाक्षी सिन्हां, कहा-मैं बहुत लकी

उन्होंने कहा कि मैंने कांग्रेस इसलिए ज्वाइन किया क्योंकि महात्मा गांधी, नेहरू, पटेल , इंदिरा गांधी, राजीव, राहुल की यह पार्टी रही है जिसका देश के आजादी में बहुत बड़ा योगदान रहा है. दूसरी बात यह मुख्य धारा की पार्टी है. यह नेशनल पार्टी है. मेरे लिए नेशनल पार्टी का रास्ता सही लगा. मेरे पास आप, ममता बनर्जी, मायावती, अखिलेश जी की तरफ से पार्टी ज्वाइन करने का ऑफर था. साथ ही लालू जी की फैमिली से भी न्यौता था. लेकिन मैं उनकी पार्टी में नहीं गया. 

यह पूछे जाने पर कि बिहार में तो कांग्रेस है नहीं लेकिन आपने फिर भी क्यों चुना. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मुझे तो लालू जी के परिवार ने भी कहा कि अभी आपको हमारे साथ नहीं आना है तो कांग्रेस के साथ जरूर जाएं और कांग्रेस को और मजबूत करें. यही वजह है कि इस बार फिर महागठबंधन ने पटना साहिब की सीट कांग्रेस के लिए रिजर्व रखी थी.

क्या पटना साहिब से आपको इसलिए जीत मिली क्योंकि आप बीजेपी से थे पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मुझे लगता है कि यह पार्टी की सीट नहीं है यह बिहार की सीट है यहां जो अच्छा करता है उसे यह सीट मिलती है. यह सीट कई बार दूसरे के पास भी गई है. यहां की जनता करनी के आधार पर वोट देते हैं. मैं अगर यहां से रिकॉर्ड मार्जिन से जीता था तो वह सभी की वजह से जीता था.

BJP छोड़ कांग्रेस ज्वाइन करने की तैयारी में शत्रुघ्न सिन्हा, बेटी सोनाक्षी बोलीं- उम्मीद है अब...

बीजेपी द्वारा पुलवामा-बालाकोट को लेकर राष्ट्र की सुरक्षा को मुद्दा बनाने पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि ये बीजेपी का अपना कहना है. यह बीजेपी के प्रचार तंत्र का हिस्सा है. कोई हमारे देश में देशद्रोही नहीं है. लेकिन ऐसा कहा गया कि जो आपकी बात से सहमत नहीं हुआ तो वह देशद्रोही हुआ. बालाकोट पर सबूत मांगे जाने पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि आज तक किसी ने कोई सबूत नहीं मांगा है. खुद बीजेपी के मंत्री ने अलग-अलग बयान देकर भ्रम पैदा किया है. इसलिए लोग पूछ रहे हैं कि अब बता दो ताकि शहीद के परिवार को भी सहारा हो. पीएम मोदी और अटल बिहारी वाजपेयी के समय की सरकार की तुलना पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वाजपेयी जी और आडवाणी जी के दौर में और आज के दौर में बहुत का अंतर है. उस समय लोकशाही थी लेकिन आज तानाशाही है. आज वन मैन शो और टू मैन आर्मी की पार्टी बनकर रह गई है. मैं मोदी के खिलाफ नहीं हूं मैं उनकी नीतियों और वादाखिलाफी के खिलाफ हूं. उन्होंने आज तक एक भी प्रेस कांफ्रेंस नहीं करते है. स्क्रीप्टेड प्रेस कांफ्रेंस की बात नहीं है. वह आपके साथ या रवीश कुमार के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों नहीं करते. सवाल पूछना देशद्रोह नहीं है. आडवाणी जी अटल जी के समय मंत्री को काम करने दिया जाता था. काम पीएमओ से नहीं होते थे. आज सारे काम पीएमओ से कर रहा है.

VIDEO: शत्रुघ्न सिन्हा बताया क्यों हुए कांग्रेस में शामिल. 

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement