NDTV Khabar

यूपी में महागठबंधन की पहली रैली आज, एक ही मंच पर मायावती, अखिलेश और अजीत सिंह फूकेंगे चुनावी बिगुल, 10 बड़ी बातें

देवबन्द की यह रैली जामिया तिब्बिया मेडिकल कॉलेज के पास आयोजित की गई है.' यह पहली बार होगा कि गठबंधन की तीनों पार्टियों के प्रमुख नेता एक ही मंच पर होंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी में महागठबंधन की पहली रैली आज, एक ही मंच पर मायावती, अखिलेश और अजीत सिंह फूकेंगे चुनावी बिगुल, 10 बड़ी बातें

अखिलेश यादव और मायावती. (फाइल तस्वीर)

लखनऊ: बसपा, सपा और रालोद गठबंधन की लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के लिए पहली संयुक्त रैली की शुरुआत रविवार को सहारनपुर के देवबंद से होगी. भाजपा (BJP) को हराने के लिये इस महागठबंधन की पहली संयुक्त रैली देवबंद में होगी जहां पहले चरण में 11 अप्रैल को चुनाव होने हैं. बहुजन समाज पार्टी द्वारा शनिवार को जारी एक बयान में कहा गया कि 'बसपा-सपा-रालोद (BSP-SP-RLD) की पहली संयुक्त रैली सात अप्रैल रविवार को सहारनपुर जिले के देवबन्द में होगी. देवबन्द की यह रैली जामिया तिब्बिया मेडिकल कॉलेज के पास आयोजित की गई है.' यह पहली बार होगा कि गठबंधन की तीनों पार्टियों के प्रमुख नेता एक ही मंच पर होंगे.
10 बड़ी बातें
  1. इस रैली को बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) संबोधित करेंगी. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता ने बताया कि देवबंद की रैली में पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) मौजूद रहेंगे. 
  2. रालोद प्रवक्ता अनिल दुबे ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष अजित सिंह (Ajit Singh) और उपाध्यक्ष जयंत चौधरी कल देवबंद में रैली को संबोधित करेंगे.
  3. बसपा सपा रालोद की संयुक्त रैलियों की शुरूआत आज से हो रही है और आने वाले दिनों में ऐसी कई रैलिया होंगी. सपा प्रवक्ता के मुताबिक सपा-बसपा-रालोद के गठबंधन से राजनीति में एक नई लहर पैदा हुई है. 
  4. अखिलेश यादव का मानना है कि विचारधारा पर आधारित इस गठबंधन के प्रति जनता में बढ़ते रूझान से भाजपा खेमे में घबराहट और बौखलाहट है. उन्होंने कहा कि जनता हालांकि अब भाजपा के बहकावे में आने वाली नहीं है. उसे भाजपा का पूरा चरित्र मालूम हो गया है इसलिए अब 2019 के चुनाव में नया प्रधानमंत्री और नई सरकार चुनने के दृढ़ संकल्प से मतदाता को कोई भी ताकत डिगा नहीं सकती है.
  5. बता दें, उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटों पर हो रहे आम चुनाव में बहुजन समाज पार्टी-समाजवादी पार्टी और आरएलडी पहली बार गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ रही है.
  6. समाजवादी पार्टी (सपा) ने लोकसभा चुनाव के लिये शुक्रवार को अपना 'विजन डॉक्यूमेंट' जारी किया और इसमें सियासी फायदे के लिये सेना के इस्तेमाल पर पाबंदी लगाने और 'अहीर रेजीमेंट' के गठन समेत अनेक वादे किये गये हैं. 
  7. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में 'सामाजिक न्याय से महापरिवर्तन : एक नयी दिशा, एक नयी उम्मीद' जारी करते हुए कहा कि विजन डॉक्यूमेंट में राष्ट्रीय सुरक्षा, आंतरिक सुरक्षा, महिलाओं की सुरक्षा, पर्यावरण की सुरक्षा और देश की खुशहाली के लिये पार्टी की योजनाओं को पेश किया गया है.
  8. इससे पहले सहारनपुर में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी रैली को संबोधित किया था. पीएम मोदी ने कांग्रेस, सपा और बसपा पर आतंकवाद को मदद पहुंचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि ये दल दुनिया के सामने बेनकाब हो रहे पाकिस्तान के पक्ष की बातें करके वहां 'हीरो' बनने की होड़ कर रहे हैं.
  9. पीएम मोदी ने रैली में कहा था, 'जब पाकिस्तान पूरी दुनिया के सामने बेनकाब हो रहा है तो ये उसके पक्ष की बात कर रहे हैं, वहां पर हीरो बनने की स्पर्द्धा कर रहे हैं. कांग्रेस हो, सपा, बसपा हो, आतंकवाद पर इसी नरम रवैये की वजह से कुछ लोगों के हौसले बुलंद हुए हैं. इन दलों ने सिर्फ आतंक की ही मदद नहीं की है, इन्होंने आपके जीवन और अस्तित्व को संकट में डाला है.'
  10. मुस्लिम बहुल सहारनपुर में मोदी ने तीन तलाक का मुद्दा उठाते हुए कहा कि उनकी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक के कुचक्र से मुक्ति दिलाकर उनका जीवन सुरक्षित करने का प्रयास किया, लेकिन कांग्रेस और उसके सहयोगी ऐसा नहीं चाहते. (इनपुट- भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement