सांसदों का टिकट काटने पर अखिलेश यादव का BJP पर तंज- यह फॉर्मूला टीम के कप्तान पर भी लागू हो

मंगलवार को भाजपा (BJP) ने कहा था कि इस बार छत्तीसगढ़ में किसी भी मौजूदा सांसद को टिकट नहीं दिया जाएगा, उनकी जगह नए चेहरों को उतारा जाएगा.

सांसदों का टिकट काटने पर अखिलेश यादव का BJP पर तंज- यह फॉर्मूला टीम के कप्तान पर भी लागू हो

सपा प्रमुख अखिलेश यादव. (फाइल तस्वीर)

नई दिल्ली:

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा द्वारा मौजूदा सांसदों का टिकट काटने के फैसले को लेकर बुधवार को निशाना साधा. अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि इस फैसला से यह साबित होता है कि 'वो फेल हो चुके हैं.' प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की ओर इशारा करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि 'यह फॉर्मूला टीम के कप्तान पर भी लागू होना चाहिए.' अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा है. ' ‘विकास' पूछ रहा है... सत्ताधारी दल अपने अधिकांश सांसदों को फिर से टिकट क्यों नहीं दे रहा है? इसका मतलब उन्होंने मान ही लिया है कि वो फेल हो चुके हैं. ये फॉर्मूला टीम पर ही नहीं, कप्तान पर भी लागू होना चाहिए.#VikasPoochhRahaHai#MahaParivartan.

मंगलवार को भाजपा (BJP) ने कहा था कि इस बार राज्य में किसी भी मौजूदा सांसद को टिकट नहीं दिया जाएगा, उनकी जगह नए चेहरों को उतारा जाएगा. दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक (CEC) के बाद अनिल जैन ने यह जानकारी दी. बताया जा रहा है कि हालिया विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है. केंद्रीय समिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के अन्य शीर्ष नेता शामिल हुए. 

लोकसभा चुनाव 2019: सपा-बसपा गठबंधन की वजह से महज 'इतनी सीटों' पर सिमट सकती है बीजेपी, पढ़ें- डॉ. प्रणय रॉय का विश्लेषण

अनिल जैन ने कहा, 'हमने नए उम्मीदवारों और नए उत्साह के साथ चुनाव लड़ने का निर्णय किया है.' पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि भाजपा सांसदों के परिवार के किसी सदस्य को भी टिकट नहीं देने पर विचार कर रही है. बता दें, भाजपा को पिछले साल विधानसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा था. पार्टी अपना खोया हुआ आधार फिर से पाने का प्रयास कर रही है.

Lok Sabha Election 2019: भतीजे अक्षय के खिलाफ चुनाव मैदान में क्यों उतरे शिवपाल यादव?

भाजपा के महासचिव ने कहा कि प्रदेश भाजपा ने पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति को सांसदों के नाम काटने का प्रस्ताव दिया था, जिसे मंजूरी दे दी गई. सूत्रों ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को राजनांदगांव से पार्टी का उम्मीदवार बनाए जाने की संभावना है. राज्य में लोकसभा की 11 सीटें हैं.

Lok Sabha Election 2019: छत्तीसगढ़ में सभी मौजूदा BJP सांसदों का कटेगा टिकट, ये है वजह...

बता दें, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राज्य में 68 सीटें जीती थीं. राज्य में 15 साल शासन कर चुकी भाजपा को 15 सीटों से ही संतोष करना पड़ा था. दोनों दलों की वोट हिस्सेदारी में 10 प्रतिशत का अंतर था. पार्टी ने यह मानदंड अपनाया तो पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की संभावित उम्मीदवारी भी सवालों के घेरे में आ जाएगी, क्योंकि उनके पुत्र अभिषेक सिंह वर्तमान सांसद हैं. 

चुनाव से ठीक पहले बीजेपी को बड़ा झटका, अरुणाचल प्रदेश में 2 मंत्रियों और 12 विधायकों ने पार्टी छोड़ी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO- 24 और 26 मार्च को देश भर में 500 सभाएं करेगी बीजेपी