NDTV Khabar

Election 2019: TMC ने चुनाव आयोग से पूछा: क्या बंगाल में आपातकाल की घोषणा हो गई है? जानें क्या है मामला

Election Results: सूत्रों ने बताया कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन ने निर्वाचन आयोग के समक्ष केंद्रीय बलों का मुद्दा उठाया और मांग की कि निर्वाचन आयोग कार्रवाई करें.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Election 2019: TMC ने चुनाव आयोग से पूछा: क्या बंगाल में आपातकाल की घोषणा हो गई है? जानें क्या है मामला

Election 2019: राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन ने निर्वाचन आयोग के समक्ष केंद्रीय बलों का मुद्दा उठाया और मांग की कि कार्रवाई करें.

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में आदर्श आचार संहिता के लागू रहने तक केंद्रीय बलों की तैनाती की भाजपा (BJP) की मांग पर सवाल खड़े करते हुए तृणमूल कांग्रेस ने मंगलवार को निर्वाचन आयोग से पूछा कि ‘क्या राज्य में आपातकाल की घोषणा हो गई है.' विपक्षी दलों के एक प्रतिनिधिमंडल ने निर्वाचन आयोग (Election Commission) से मुलाकात की और हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) की 23 मई को मतगणना से पहले औचक रूप से चुने गए मतदान केंद्रों की वीवीपैट पर्चियों की पुष्टि करने की मांग की. सूत्रों ने बताया कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन ने निर्वाचन आयोग के समक्ष केंद्रीय बलों का मुद्दा उठाया और मांग की कि निर्वाचन आयोग कार्रवाई करें.

सूत्रों के अनुसार, डेरेक ओ ब्रायन ने निर्वाचन आयोग से कहा, ‘भाजपा के मंत्री ने घोषणा की कि केंद्रीय बल बंगाल में एक और सप्ताह रहेंगे. क्या भाजपा ने बंगाल में आपातकाल की घोषणा कर दी है? केंद्रीय बलों के छद्म रूप में भाजपा-आरएसएस के सदस्य नागरिकों को प्रताड़ित कर रहे हैं. बंगाल के लिए विशेष नियम क्यों? यह स्वीकार नहीं है.' बता दें, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने 19 मई को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि भाजपा चिंतित है कि मतदाताओं को डराया-धमकाया गया और असल मतदाताओं को वोट नहीं डालने दिया गया.


Elections 2019: विपक्षी एकजुटता की कवायद में जुटे चंद्रबाबू नायडू ने ममता बनर्जी से की मुलाकात, कही यह बात...

उन्होंने कहा, ‘इन मुद्दों से निपटने के लिए भाजपा आदर्श आचार संहिता लागू रहने तक राज्य में केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती की मांग करती है.' सूत्रों ने बताया कि कुछ केंद्रीय बल 23 मई को मतगणना तक सामान्य रूप से राज्य में रहेंगे. आदर्श आचार संहिता 25 मई तक लागू है.

Poll of Exit Polls 2019 : पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस ने शुरू किया गुणा-भाग, सभी पूर्वानुमानों को किया खारिज

वहीं दूसरी ओर भाजपा ने रविवार को लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में तृणमूल कांग्रेस पर हिंसा करने का आरोप लगाते हुए कई बूथों पर फिर से मतदान कराने की मांग की. पश्चिम बंगाल में नौ सीटों के लिए रविवार को हुए मतदान में 72 प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. भाजपा के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय ने कहा, ‘डायमंड हार्बर, उत्तरी कोलकाता, दक्षिणी कोलकाता, जाधवपुर, बसीरहाट, मथुरापुर और जॉयनगर में काफी हिंसा हुई है. तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने ज्यादातर बूथों पर वोट नहीं डालने दिया. हम कई बूथों पर पुन: मतदान चाहते हैं.'

राम माधव का दावा: 2014 के यूपी वाले नतीजे इस बार बंगाल में आएंगे, जानें क्या कहते हैं आकंड़े

भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस को हार का डर है, इसलिए वह हिंसा पर उतारू है.' तृकां द्वारा भाजपा पर हिंसा का आरोप लगाए जाने पर पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘हार देखते हुए तृणमूल कांग्रेस के नेता अपना आपा खो बैठे हैं. यहां स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए केन्द्रीय बल मौजूद हैं. अगर उन्हें जीत का इतना भरोसा है तो तृणमूल कांग्रेस के गुंडे लोगों को वोट देने से क्यों रोक रहे थे?'

(इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां

चुनाव 2019: BJP ने कहा- TMC के गुंडों ने ज्यादातर बूथों पर वोट नहीं डालने दिया, इसलिए अब...

Video: बंगाल में BJP समर्थकों का आरोप, TMC समर्थक नहीं देने दे रहे वोट



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement