NDTV Khabar

जब ममता बनर्जी का हुआ 'जय श्री राम' के नारों से 'स्वागत', जानें फिर उन्होंने क्या किया...

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए उस वक्त एक अजीब स्थिति हो गई, जब उनके काफिले के दौरान सड़क किनारे मौजूद भीड़ ने 'जय श्री राम के नारे लगाए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब ममता बनर्जी का हुआ 'जय श्री राम' के नारों से 'स्वागत', जानें फिर उन्होंने क्या किया...

जय श्री राम का नारा सुन गाड़ी से उतर गईं ममता बनर्जी

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए उस वक्त एक अजीब स्थिति हो गई, जब उनके काफिले के दौरान सड़क किनारे मौजूद भीड़ ने 'जय श्री राम के नारे लगाए. ममता बनर्जी जब चंद्रकोण में आरामबाग सीट पर चुनाव प्रचार के दौरान एक जनसभा को संबोधित करने के लिए ​रास्ते में थीं, तब शनिवार को दोपहर में 'जय श्री राम' के नारों से उनका आमना-सामना हुआ. बता दें कि सोमवार को इस सीट पर मतदान होना है. 

लोकसभा चुनाव 2019 : पश्चिम बंगाल में मुस्लिम वोटर्स गुल खिला सकते हैं या नहीं? डॉ. प्रणव रॉय का विश्लेषण

दरअसल, ममता बनर्जी की गाड़ी जैसे ही शहर में घुसी, उनके समर्थक सड़क किनारे मौजूद थे, तभी वहां जय श्री राम के नारे लगाने शुरू कर हो गए. इस पर तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने अपने कार का शीशा नीचे किया और ड्राइवर को गाड़ी रोकने के लिए कहा. इसके बाद ममता बनर्जी गाड़ी से उतरीं और जो लोग नारे लगा रहे थे, उनसे कहा कि आइये बात करते हैं, मगर इससे पहले ही नारे लगाने वाले भाग गए. 


इससे बाद ममता बनर्जी ने अपने पसंदीदा शब्द "हरिदास" का धीमी आवाज में नाम लिया और एक लंबी सांस ली. बता दें कि हरिदास पाल एक काल्पनिक चरित्र का नाम है, जिसे ज्ञाता और महान माना जाता है. इसका उपयोग बंगालियों द्वारा भव्यता के भ्रम से पीड़ित लोगों का मजाक उड़ाने के लिए किया जाता है. 

ममता बनर्जी को सुप्रीम कोर्ट से झटका, BJP प्रत्याशी भारती घोष को बंगाल में घुसने पर रोक लगाने से किया इनकार

दरअसल, ममता बनर्जी पास के घाटल लोकसभा क्षेत्र से भी एक महत्वपूर्ण चुनौती का सामना करना पड़ रहा है. जहां भाजपा उम्मीदवार पूर्व वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भारती घोष ने खुलेआम तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पिटने की धमकी दी है. उन्होंने कहा है कि अगर टीएमसी कार्यकर्ता वोटरों को डराना-धमकाना बंद नहीं करते हैं, तो वे उनकी पिटाई करेंगे. उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को धमकी दी है कि अगर उन्होंने ज्यादा होशियारी दिखाई तो वह उत्तर प्रदेश से लोगों को बुलाएंगी और उन्हें ‘कुत्ते की मौत मारेंगी.' 

CBI बनाम पश्चिम बंगाल सरकार : सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की अर्जी पर फैसला सुरक्षित रखा

टिप्पणियां

घोष पूर्व आईपीएस अधिकारी हैं और कभी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की करीबी मानी जाती थीं. उन्होंने घाटल लोकसभा में क्षेत्र में प्रचार के दौरान यह टिप्पणी की. इससे कुछ देर पहले ही तृणमूल कांग्रेस प्रमुख बनर्जी ने उन्हें शालीनता की हदें पार नहीं करने की चेतावनी दी थी. भाजपा प्रत्याशी ने प्रचार अभियान के दौरान कहा, ‘अपने घरों में चले जाओ और यहां अपनी होशियारी दिखाने की कोशिश नहीं करो। छुपने की कोई जगह नहीं होगी. मैं तुम्हें, तुम्हारे घर से निकालकर कुत्ते की मौत मारूंगी... मैं उत्तर प्रदेश से 1,000 व्यक्तियों को ले आऊंगी और उन्हें तुम्हारे में घरों में छोड़ दूंगी और तुम्हें सबक सिखाउंगी.' 

VIDEO: ममता बनर्जी के सामने लगे जय श्री राम के नारे



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement