NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बावजूद इस सीट को जीतकर खुश क्यों है कांग्रेस ?

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election Result 2019) में कांग्रेस चाहकर भी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी. 543 सीटों में से कांग्रेस सिर्फ 52 सीटें ही जीतने में कामयाब हो सकी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव में करारी हार के बावजूद इस सीट को जीतकर खुश क्यों है कांग्रेस ?

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi)

खास बातें

  1. लोकसभा चुुनाव 2019 में कांग्रेस की हुई है करारी हार
  2. सिर्फ 52 सीट ही जीत पाई है कांग्रेस
  3. बीजेपी ने जीती हैं 303 सीटें
रायपुर:

लोकसभा चुनाव 2019  (Lok Sabha Election Result 2019)  में कांग्रेस चाहकर भी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी. 543 सीटों में से कांग्रेस सिर्फ 52 सीटें ही जीतने में कामयाब हो सकी. वहीं, बीजेपी (BJP) ने प्रचंड जीत दर्ज करते हुए 303 सीटों पर कब्जा जमा लिया. लेकिन बुरी तरह हारने के बावजूद छत्तीसगढ़ कांग्रेस नक्सल प्रभावित बस्तर सीट की जीत से काफी संतुष्ट और खुश है.  कांग्रेस  अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित इस सीट से पहली बार संसदीय चुनाव जीती है. इस सीट से कांग्रेस प्रत्याशी दीपक बैज ने बीजेपी (BJP) के बैदुराम कश्यप को 38,982 वोटों के अंतर से हराया है. लोकसभा चुनाव (Election Result 2019) से पहले कांग्रेस को आशा थी कि वह विधानसभा चुनावों का प्रदर्शन दोहराएगी और 11 संसदीय सीटों में से ज्यादातर उसके हिस्से में आएंगी. पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 15 साल के भाजपा शासन को खत्म कर प्रदेश में सरकार बनायी थी.

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस के सामने खड़े हो गए यह 6 बड़े संकट...


लेकिन आशा के विपरीत राज्य की 11 संसदीय सीटों में से कांग्रेस के हिस्से में सिर्फ दो कोरबा और बस्तर आयी हैं. अन्य नौ भाजपा के हिस्से में गयी हैं. अगर लोकसभा चुनावों की बात करें तो पिछले चार चुनावों में यह कांग्रेस का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. इससे पहले के तीन संसदीय चुनावों में कांग्रेस के खाते में सिर्फ एक सीट मिली थी. राज्य कांग्रेस के प्रवक्ता शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कहा, "हमने आदिवासी उम्मीदवारों के लिए सुरक्षित बस्तर और कांकेर सीटों पर अच्छा प्रदर्शन किया. यह दीगर है कि हम सिर्फ बस्तर सीट ही जीत सके, और महज 6,917 वोटों के अंतर से कांकेर हार गए.  मोदी लहर के बावजूद कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में सीटों की संख्या बढ़ाकर दो कर ली है."

प्रियंका गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने के सुझाव पर बोले राहुल गांधी- मेरी बहन को इसमें मत खींचो


उन्होंने कहा, "यह महत्वपूर्ण है कि पार्टी ने नवंबर 2000 में छत्तीसगढ़ के गठन के बाद पहली बार सुरक्षित लोकसभा सीट जीती है." गौरतलब है कि बस्तर चुनावों से पहले नक्सलवादियों ने भाजपा विधायक भीमा मांडवी और चार सुरक्षाकर्मियों की हत्या कर दी थी.

टिप्पणियां

VIDEO: इस्तीफे पर अड़े राहुल गांधी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement