Women's Day 2019: सेल्स गर्ल से रक्षा मंत्री तक, जानिए निर्मला सीतारमण की दिलचस्प कहानी

निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) उन महिला नेताओं में से एक हैं जो बेहद कम समय में राजनीति के शिखर तक पहुंती हैं. देश की पहली महिला रक्षा मंत्री होने के अलावा सीतारमण पेशे से अर्थाशास्त्री और समाज सेविका भी हैं.

Women's Day 2019: सेल्स गर्ल से रक्षा मंत्री तक, जानिए निर्मला सीतारमण की दिलचस्प कहानी

Women's Day 2019: निर्मला सीतारमण का जन्म 18 अगस्त 1959 को तमिलनाडू के मदुरै में हुआ था.

नई दिल्ली:

महिलाओं के सम्मान में हर साल 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (Women's Day) मनाया जाता है. यह (International Women's Day) दिन महिलाओं की उपलब्धियों का जश्न तो मनाता ही है इसके अलावा यह लैंगिक असमानता जैसै गंभीर मुद्दे की ओर ध्यान आकर्षित करता है. यह (Women's Day 2019) दिन हमें याद दिलाता है कि जब तक महिलाओं को निर्णय लेने का अधिकार, आर्थिक आजादी और समानता नहीं दी जाती तब तक एक आदर्श समाज की कल्पना व्यर्थ है. अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day 2019) के मौके पर हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपने टैलेन्ट और मेहनत के बलबूते पर मिसाल कायम की है. निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) उन महिला नेताओं में से एक हैं जो बेहद कम समय में राजनीति के शिखर तक पहुंची हैं. देश की पहली महिला रक्षा मंत्री होने के अलावा सीतारमण पेशे से अर्थाशास्त्री और समाज सेविका भी हैं. निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) देश की कई महिलाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं. निर्मला सीतारमण का जन्म 18 अगस्त 1959 को तमिलनाडू के मदुरै में हुआ था. उनके पिता नारायण सीतारमण भारतीय रेलवे में कार्यरत थे. पिता रेलवे में थे और यही कारण है कि निर्मला सीतारमण का बचपन राज्य के विभिन्न शहरों में बीता. उन्होंने सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज से बीए किया, जिसके बाद उन्होंने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी से एमए इकोनॉमिक्स की डिग्री हासिल की. साथ ही उन्होंने जेएनयू से एमफिल किया.

nirmala sitaraman pti 650
​निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman)

निर्मला सीतारमण की शादी डॉक्टर पराकाला प्रभाकर से हुई. उनके पति पराकाला प्रभाकर (Nirmala Sitharaman Husband) आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं. सीतारमण (Sitharaman) की प्रभाकर से मुलाकात तब हुई थी जब वह जेएनयू में पढ़ रही थीं. प्रभाकर ने लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स से पीएचडी की थी. प्रभाकर के साथ सीतारमण लंदन में रहने लगी थीं. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने लंदन के एक होम डिकोर में सेल्स गर्ल के रूप में कार्य किया था. बाद में उन्होंने प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स में सीनियर मैनेजर के तौर पर काम किया. बता दें कि सीतारमण ने बीबीसी वर्ल्ड सर्विस में भी काम किया. 

गोपीनाथ मुंडे की पुत्री ने रचा इतिहास, करीब सात लाख वोटों से जीती

निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) 2003 से 2005 तक नेशनल कमिशन फॉर वुमन की सदस्य भी रह चुकी हैं. वह 2008 में भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हुईं और उन्होंने पार्टी के प्रवक्ता के पद पर कार्य किया. बीजेपी के प्रवक्ताओं के रूप में निर्मला सीतारमण अक्सर टीवी चैनलों पर नजर आने लगीं. 2014 में उन्हें मोदी सरकार की कैबिनेट में शामिल किया गया. 2016 में निर्मला सीतारमण राज्य सभा की सदस्य बनीं.

26 मई 2016 में निर्मला सीतारमण भारत ने वाणिज्य और उद्योग (स्वतंत्र प्रभार) तथा वित्त व कारपोरेट मामलों की राज्य मंत्री के पद पर शपद ली. 3 सितंबर 2017 को सीतारमण भारत की पहली रक्षा मंत्री (Defence Minister Nirmala Sitharaman) बनीं. बता दें कि इंदिरा गांधी ने भी रक्षा मंत्रालय की कमान संभाली थीं. उन्होंने प्रधानमंत्री रहते हुए रक्षा मंत्री का अतिरिक्त प्रभार संभाला था.

nirmala sitaraman​रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman)

निर्मला सीतारमण ने 17 जनवरी 2018 को सुखोई-30 लड़ाकू विमान में उड़ान भरी थी. निर्मला सीतारमण पहली महिला रक्षा मंत्री हैं जिन्‍होंने लड़ाकू विमान में उड़ान भरी. इससे पहले 25 नवंबर 2009 में तीनों सेनाओं के सुप्रीम कमांडर के तौर पर पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल पुणे में सुखोई में उड़ान भर चुकी हैं. 

हाल ही में निर्मला सीतारमण ने राफेल मामले पर जवाब देते हुए कांग्रेस पर पलटवार किया. संसद में दिया उनका भाषण लोगों को पसंद बेहद पसंद आया और देखते ही देखते उनके भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

Newsbeep

VIDEO: राफेल पर संसद में हंगामा, रक्षा मंत्री ने दिया जवाब

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


JDU ने पिता तो BJP ने बेटी को दी थी मात, क्या इस बार सबका बदला ले पाएंगी मीसा भारती?