NDTV Khabar

'बजरंगबली' वाले बयान पर 72 घंटे का बैन झेल रहे योगी आदित्यनाथ पहुंचे हनुमान जी की शरण में

हेट स्पीच को लेकर आचार संहिता का उल्लंघन करने पर चुनाव आयोग की ओर से लगे प्रतिबंध के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को मंदिर में हनुमान चालीसा का पाठ किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'बजरंगबली' वाले बयान पर 72 घंटे का बैन झेल रहे योगी आदित्यनाथ पहुंचे हनुमान जी की शरण में

लखनऊ के हनुमान मंदिर में पूजा करते योगी आदित्यनाथ

नई दिल्ली:

हेट स्पीच को लेकर आचार संहिता का उल्लंघन करने पर चुनाव आयोग की ओर से लगे प्रतिबंध के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को मंदिर में हनुमान चालीसा का पाठ किया. इस दौरान उनके साथ प्रदेश सरकार के मंत्री अशुतोष टंडन 'गोपाल जी' मौजूद रहे. मुख्यमंत्री योगी मंगलवार सुबह ही हनुमान सेतु मंदिर पहुंच गए. वह करीब 15 मिनट तक मंदिर में रुके. इस दौरान उन्होंने हनुमान चालीसा का पाठ किया और वह कैमरे की नजर में कैद हो गए. 

चुनाव में हेट स्पीच पर EC की कार्रवाई से सुप्रीम कोर्ट संतुष्ट, कहा- लगता है हमारे आदेश के बाद चुनाव आयोग जाग गया

चुनाव आयोग ने आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले में सख्त कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चुनाव प्रचार करने पर 72 घंटों का प्रतिबंध लगा दिया है. मुख्यमंत्री योगी ने आचार संहिता के उल्लंघन के आरोपों का खंडन करते हुए कहा था कि उन्होंने कभी भी धर्म और जाति के नाम पर वोट नहीं मांगे बल्कि यह काम विपक्ष ने किया है. मेरठ में दिए गए अपने बयान पर चुनाव आयोग से मिले नोटिस के जवाब में उन्होंने कहा कि धर्म या जाति के आधार पर वोट मांगने के आरोप पूरी तरह से गलत हैं. 


यूपी के सीएम आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- यह पार्टी तो आतंकवाद के प्रति हमेशा से ही....

सीएम योगी ने ट्विटर पर लिखा था कि बजरंग बली में उनकी अटूट आस्था है और किसी को बुरा लगे या कोई इससे अज्ञानतावश असुरक्षित महसूस करता है तो वह इस डर से अपनी इस आस्था को छोड़ नहीं सकते हैं। बजरंग बली उनके आराध्य हैं और हर शुभ कार्य के अवसर पर उनका स्मरण करते हैं. 

कांग्रेस ने कहा, योगी आदित्यनाथ की तरह पीएम मोदी और अमित शाह के प्रचार पर भी लगे रोक

चुनाव आयोग की ओर से लगे प्रतिबंध के बाद योगी आदित्यनाथ 16, 17 और 18 अप्रैल तक कोई चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगे. 16 अप्रैल को उनकी कर्नाटक के बीदर, हुबली और उडुपी में तीन रैलियां प्रस्तावित थीं. 

टिप्पणियां

VIDEO : वोटों के लिए आपत्तिजनक बयानबाजी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement