NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव के बाद योगी मंत्रिमंडल का हो सकता है विस्तार, इन्हें मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

भाजपा ने यूपी सरकार के जिन चार मंत्रियों को चुनाव में उतारा है, उनमें सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी भी शामिल है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव के बाद योगी मंत्रिमंडल का हो सकता है विस्तार, इन्हें मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

लोकसभा चुनाव के बाद योगी आदित्यनाथ कर सकते हैं कैबिनेट का विस्तार

खास बातें

  1. भाजपा ने योगी सरकार के चार मंत्रियों को लोकसभा चुनाव में दिया टिकट
  2. लोकसभा चुनाव के बाद हो सकता है कैबिनेट विस्तार
  3. यूपी के कई विधायकों को मिल सकती है मंत्रिमंडल में जगह
लखनऊ:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के ठीक बाद यूपी में सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) मंत्रिमंडल में विस्तार की तैयारी में हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) में यूपी सरकार के चार मंत्रियों (CM Yogi Adityanath) के मैदान में उतरने के बाद ही सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) मंत्रिमंडल का विस्तार करने जा रहे है. भाजपा ने यूपी सरकार के जिन चार मंत्रियों को चुनाव में उतारा है, उनमें सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी भी शामिल है. पार्टी ने उन्हें उन्हें अंबेडकर नगर सीट से पार्टी का प्रत्याशी बनाया है. इस सीट पर लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के छठे चरण में 12 मई को मतदान होगा. वहीं, भाजपा ने अपने प्रत्याशियों की पहली सूची में प्रदेश के पशु धन मंत्री एसपी सिंह बघेल को आगरा से उम्मीदवार बनाया है.

सीएम योगी आदित्यनाथ का दावा, लोकसभा चुनाव में भाजपा को मिलेंगी 400 सीटें


आगरा में पिछली 18 अप्रैल को दूसरे चरण में मतदान हो चुका है. इसके अलावा जिन प्रत्याशियों को जिन मंत्रियों को भाजपा ने प्रत्याशी बनाया है उनमें राज्य की महिला एवं परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी (इलाहाबाद) और खादी ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी (कानपुर) भी शामिल हैं. रीता ने वर्ष 2014 का लोकसभा चुनाव लखनऊ सीट से राजनाथ सिंह के खिलाफ लड़ा था जिसमें वह दूसरे स्थान पर रही थीं. इलाहाबाद में आगामी 12 मई को मतदान होगा. वहीं, कानपुर में 29 अप्रैल को वोट पड़ेंगे. प्रदेश भाजपा प्रवक्ता हीरो बाजपेई ने बताया कि इन चारों मंत्रियों के अपने काम के प्रति समर्पण की वजह से पार्टी ने उन्हें प्रत्याशी बनाया है.

योगी आदित्यनाथ और उनके गुरु के खिलाफ बोलना पड़ा महंगा, कांग्रेस प्रत्याशी पर दर्ज हुआ केस

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) ने एक बार फिर भाजपा (BJP) नेतृत्व वाली योगी सरकार (Yogi Govt) पर निशाना साधा था. ओपी राजभर (OP Rajbhar) ने आरोप लगाया था कि राज्य सरकार कुंभ के लिए हजारों करोड़ रुपये खर्च कर रही है, लेकिन सभी जनपदों में दिव्यांग बच्चों के लिए स्कूल खोलने को उसके पास बजट ही नहीं था. प्रदेश सरकार में भाजपा की साझीदार सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री राजभर ने एक ट्वीट में कहा था कि 2019 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए ही मंदिर मुद्दे को हवा दी जा रही है.

VIDEO: योगी आदित्यनाथ सरकार के दो साल पूरे.

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement