Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

दबिश देते वक्‍त हुई युवक की मौत, कोतवाल-दो SI समेत 11 लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज

ईमेल करें
टिप्पणियां
दबिश देते वक्‍त हुई युवक की मौत, कोतवाल-दो SI समेत 11 लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर...

बाराबंकी : उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में एक मुकदमे के सिलसिले में दबिश देने गए पुलिस दल से बचने के लिए तालाब में कूदने से एक लड़के की मौत के मामले में कोतवाल तथा दो उपनिरीक्षकों समेत 11 लोगों के खिलाफ हत्या और बलवा करने का मुकदमा दर्ज किया गया है।

पुलिस सूत्रों ने आज बताया कि देवा कोतवाली इलाके के कुसुम्भा गांव में हुए इस काण्ड के बाद गांव में पसरे तनावपूर्ण सन्नाटे के मद्देनजर बड़ी संख्या में पुलिस और पीएसी बल तैनात किया गया है।

सूत्रों ने बताया कि कुसुम्भा गांव में गत पांच जनवरी को चुनावी रंजिश को लेकर दो पक्षों में मारपीट हुई थी। इस मामले में मुकदमा दर्ज होने पर शुक्रवार को प्रभारी कोतवाल बीडी यादव, दो उपनिरीक्षकों जितेन्द्र सिंह और अशफाक साथी पुलिसकर्मियों के साथ गांव में दबिश देने पहुंचे थे। उनके साथ शिवनाथ यादव, हांडा, गुड्डू, चंद्रशेखर, लक्ष्मीकान्त, गोपी, शैलेश और सुशील नामक लोग भी थे।

आरोप है कि पुलिस और दबंगों ने गांव में प्रतिपक्षी लोगों को दौड़ाकर पीटना शुरू कर दिया। डरकर भागे चार लोग तालाब में कूद गए, जिनमें से नाबालिग लड़के अंकित गुप्ता की डूबकर मौत हो गई थी।

इस वारदात की शुरुआती जांच के बाद कोतवाल बीडी यादव को निलंबित कर दिया गया और उसके साथ-साथ आरोपी उपनिरीक्षकों तथा आठ अन्य लोगों के खिलाफ कल हत्या और बलवा का मुकदमा दर्ज किया गया।

पुलिस अधीक्षक अब्दुल हमीद का कहना है कि आरोपी पुलिसकर्मियों समेत सभी अभियुक्तों के खिलाफ जांच जारी है और गिरफ्तारी भी होगी।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement