मुंबई : फिरौती के लिए साढ़े 3 साल की मासूम की हत्या, हत्यारे पड़ोस में ही रहने वाले 2 नाबालिग

मुंबई : फिरौती के लिए साढ़े 3 साल की मासूम की हत्या, हत्यारे पड़ोस में ही रहने वाले 2 नाबालिग

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  • शव को ठिकाने लगाने के बाद 1 करोड़ की फिरौती की मांग रहे थे आरोपी
  • पुलिस ने दोनों आरोपी लड़को को गिरफ्तार कर शव बरामद कर लिया
  • मोबाइल चार्जर के तार से गला दबाकर हत्या की बात कबूली
मुंबई:

दो नाबालिग बच्चों ने अपने ही पड़ोस में रहने वाली साढ़े 3 साल की मासूम का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी. हत्या कर उसके शव को ठिकाने लगाने के बाद मृतका के पिता से 1 करोड़ की फिरौती की मांग रहे थे. जे जे मार्ग पुलिस ने दोनों आरोपी लड़को को गिरफ्तार कर मासूम का शव बरामद कर लिया है. पता चला है कि मोबाइल चार्जर के तार से गला दबाकर दोनों ने उसकी हत्या की और फिर उसे इलाके में बड़े नाले के उसपार उजाड़ पड़ी एक बिल्डिंग की छत पर एक प्लास्टिक की थैली में रख दिया था.

दक्षिण मुंबई में नागपाड़ा के पास एक चॉल में रहने वाली साढ़े 3 साल की मासूम 5 दिसंबर को लापता हुई थी.तब से उसकी तलाश चल रही थी. पुलिस को पहले से ही किसी जान पहचान वाले पर ही शक था पर लाख कोशिश के बाद भी कुछ पता नहीं चल रहा था. डीसीपी डॉ मनोज शर्मा के मुताबिक वो खुद भी तीन बार उस चॉल में जाकर पूछताछ कर चुके थे. 4 दिन पहले अचानक से फिरौती का फ़ोन आया.

फ़ोन करने वाले ने दावा किया कि बच्ची उसके कब्जे में है और एक करोड़ रुपये मिलने पर ही बच्ची को छोड़ेंगे. फ़ोन करने वाली की आवाज से साफ था कि वो 12 से 15 साल का हो सकता है.पुलिस ने चॉल में रहने वाले युवकों पर अपना ध्यान केंद्रित किया. साथ में बच्ची के पिता को अपहरणकर्ताओं से फिरौती की रकम कम करवाने के लिए विनती करते रहने की सलाह दी ताकि आरोपी का लोकेशन ट्रेस किया जा सके. लेकिन आरोपी इतने शातिर थे कि वो अलग-अलग जगहों से लैंडलाइन से फोन करते थे .

इस बीच लापता बच्ची की तलाश में मदद करने वाले पड़ोसी लड़के पर भी पुलिस नजर बनाए हुई थी. वो कई तरह की सूचनाएं देता रहता था. आखिरकार वो बेनकाब हो गया और पुलिस ने उसे धर दबोचा . पूछताछ में पता चला कि वारदात में उसके साथ एक और लड़का शामिल है. पुलिस ने उसे भी पकड़ लिया.
 
डीसीपी शर्मा के मुताबिक आरोपी कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र हैं. दोनो ही विज्ञान की पढ़ाई करते हैं. मृतक बच्ची अक्सर पडोसी लड़के के घर में खेलने जाती थी. बच्ची के पिता का कबाड़ का व्यवसाय है और वो अक्सर बड़ी महंगी कार लेकर घर आते थे जिससे लड़को को लगा कि ये पैसे वाले हैं. बच्ची को अगवा कर एक साथ बड़ी रकम मिल सकती है.  घर में पहले से क्लोरोफॉर्म लेकर तैयार दोनों ने जैसे ही बच्ची घर में खेलने आयी उसे क्लोरोफॉर्म सुंघाकर बेहोश कर दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कुछ घंटे बाद बच्ची की मां ने उसे तलाशना शुरू कर दिया. वो चॉल के सभी घरों में गई लेकिन अपने घर से लगे पड़ोसी के घर में नही जा पाई क्योंकि तब उसने ये कहकर कि वो नहा रहा है, घर का दरवाजा नहीं खोला. बाद में बाहर आकर खुद भी बच्ची की तलाश में जुट गया था. बाद में इस डर से कि बच्ची होश में आने के बाद उसे पहचान लेगी उसने मोबाइल चार्जर के तार से उस मासूम का गला घोंट दिया.