NDTV Khabar

मराठा आंदोलन के बीच बीजेपी ने शरद पवार के गढ़ सांगली में दिया कांग्रेस-एनसीपी को झटका, जलगांव में भी जीत

सांगली और जलगांव नगरपालिकाओं में एक अगस्त को मतदान हुआ था. सरकारी नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण के लिए मराठा समुदाय द्वारा किये जा रहे आंदोलन के बीच भाजपा ने यह जीत हासिल की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मराठा आंदोलन के बीच बीजेपी ने शरद पवार के गढ़ सांगली में दिया कांग्रेस-एनसीपी को झटका, जलगांव में भी जीत

जश्न मनाते बीजेपी कार्यकर्ता

मुंबई:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महाराष्ट्र की दो नगरपालिकाओं के चुनाव में भाजपा की जीत के बाद पार्टी में अपना ‘‘विश्वास’’ बनाये रखने के लिए राज्य की जनता को धन्यवाद दिया है.  भाजपा ने सांगली नगरपालिका क्षेत्र में कांग्रेस-राकांपा गठबंधन को हराकर बड़ी जीत हासिल की और जलगांव नगरपालिका में जीत दर्ज करके शिवसेना को करारा झटका दिया है. प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया,‘‘महाराष्ट्र में भाजपा के लिए प्रभावशाली जीत। जलगांव में अच्छा प्रदर्शन और सांगली में उत्कृष्ट जीत. मैं विश्वास बनाये रखने के लिए महाराष्ट्र के लोगों का धन्यवाद करता हूं.’’   प्रधानमंत्री ने कहा,‘‘मैं सीएम देवेन्द्र फडणवीस, राव साहेब दानवे और महाराष्ट्र भाजपा की पूरी टीम की कड़ी मेहनत की भी सराहना करता हूं.’’ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी जीत की सराहना की है. उन्होंने कहा,‘‘महाराष्ट्र में भाजपा के लिए समर्थन जारी रहने से पता चलता है कि लोगों की इच्छा बेहतर जीवन के लिए है, जो मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के नेतृत्व में राज्य सरकार और केन्द्र की मोदी सरकार दे रही है और महाराष्ट्र को ऊंचाइयों पर ले जाने की प्रतिबद्धता को पूरा किया जा रहा है.’
 


सांगली और जलगांव नगरपालिकाओं में एक अगस्त को मतदान हुआ था. सरकारी नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण के लिए मराठा समुदाय द्वारा किये जा रहे आंदोलन के बीच भाजपा ने यह जीत हासिल की है. इस जीत को मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के लिए राहत के रूप में देखा जा रहा है. राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) द्वारा घोषित परिणाम के अनुसार राज्य और केन्द्र में शिवसेना की सहयोगी भाजपा ने जलगांव नगर निगम (जेएमसी) में 75 सीटों में से 57 सीटें जीतीं. शिवसेना नेता सुरेश जैन की खान्देश विकास आघाडी (केवीए) केवल 13 सीटें जीत सकीं. केवीए ने पिछले कई वर्षों तक जेएमसी में शासन किया. एक स्थानीय संगठन केवीए ने इन बार शिवसेना के चिह्न पर चुनाव लड़ा था और जेएमसी में उसकी 36 सीटें थीं.

'राजस्थान गौरव यात्रा' पर आज से वसुंधरा राजे, हरी झंडी दिखाकर अमित शाह करेंगे चुनावी अभियान का आगाज

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) ने तीन सीटों पर दर्ज की जबकि दो सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की. एनसीपी को एक भी सीट नहीं मिली जबकि पहले उसके नगर निकाय में 11 पार्षद थे. कांग्रेस जलगांव में लगातार दूसरी बार अपना खाता भी नहीं खोल सकी. 2013 में जलगांव नगरपालिका में केवीए ने 36 सीटों पर जीत दर्ज की थी और इसके बाद भाजपा (15), मनसे (12), राकांपा (11) और निर्दलीय (1) हैं.

मराठा आरक्षण के बाद अब महाराष्‍ट्र में मुस्लिम आरक्षण की मांग बढ़ी...

भाजपा ने सांगली-मिराज-कुपवाड नगरपालिका में 78 में से 41 सीटें हासिल की और कांग्रेस को सत्ता से बेदखल किया. पश्चिमी महाराष्ट्र नगर निकाय में वर्तमान में सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस को केवल 20 सीटों पर जीत हासिल हुई जबकि उसकी सहयोगी पार्टी एनसीपी को केवल 15 सीटें मिली. अन्यों को दो सीटों पर जीत मिली. भाजपा का इस नगर निकाय में एक भी पार्षद नहीं था.  सांगली के परिणाम को कांग्रेस-राकांपा गठबंधन के लिए एक बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है. इन दोनों दलों ने शहर में नगर निकाय चुनाव में पहली बार गठबंधन बनाया था. राकांपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष जयंत पाटिल और कांग्रेस नेता विश्वजीत कदम के साथ दोनों दलों के कई स्थानीय नेताओं ने भी गठबंधन के लिए जोरदार प्रचार किया था.  फडणवीस ने मराठा आरक्षण आंदोलन के मद्देनजर सांगली में अपनी जनसभाओं को रद्द कर दिया था. 


टिप्पणियां

सांगली में 2013 में कांग्रेस ने 41 सीटों पर जीत दर्ज की थी.  राकांपा को 19, एमएनएस को एक और शेष सीटें निर्दलीय और अन्यों ने जीतीं थी. फडणवीस ने पत्रकारों से कहा कि मराठा आरक्षण आंदोलन के बावजूद जलगांव और सांगली में लोगों ने भाजपा को बड़ी तादाद में वोट दिये थे. 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement