महाराष्ट्र: कैबिनेट मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज शिवसेना के अब्दुल सत्तार ने दिया इस्तीफा

महाराष्ट्र में एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना की गठबंधन की सरकार बनने के बाद अब पेंच मंत्रालय मिलने को लेकर शुरू हो गई है. महाराष्ट्र के कैबिनेट विस्तार के दौरान राज्यमंत्री बने शिवसेना के नेता अब्दुल सत्तार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

खास बातें

  • महाराष्ट्र में शिवसेना के नेता ने दिया इस्तीफा
  • कैबिनेट मंत्री नहीं बनाए जाने से थे नाराज
  • मंत्रालय को लेकर गठबंधन सरकार में अभी भी फंसा है पेंच
महाराष्ट्र:

महाराष्ट्र में एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना की गठबंधन की सरकार बनने के बाद अब पेंच मंत्रालय मिलने को लेकर शुरू हो गई है. महाराष्ट्र के कैबिनेट विस्तार के दौरान राज्यमंत्री बने शिवसेना के नेता अब्दुल सत्तार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. वह कैबिनेट मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज थे. इस मामले में NDTV से बात करते हुए शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि यह शिवसेना की नहीं, बल्कि विकास अघाड़ी की सरकार है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की जाएगी, सब ठीक हो जाएगा. आपको बता दें कि खबर थी कि शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) को सबसे अहम मंत्रालय मिलने जा रहे हैं. पार्टी को गृह, वित्त, सिंचाई और आवास मंत्रालय मिलने की उम्मीद है. उपमुख्यमंत्री का पद भी शरद पवार की पार्टी का है. संख्या के संदर्भ में भी, शिवसेना के 15 की तुलना में 16 सीट के साथ NCP के पास बढ़त है. सूत्रों ने कहा कि मंत्रालय पर चल रहे विमर्श के दौरान पार्टी के अधिक नाम सामने आए हैं.

शिवसेना ने बताई वजह, क्यों पार्टी के कुछ वरिष्ठ विधायकों को मंत्रिमंडल में नहीं किया गया शामिल

सूत्रों ने कहा कि एनसीपी के अनिल देशमुख को गृह मंत्रालय मिल सकता है, जबकि शहरी विकास मंत्रालय शिवसेना के एकनाथ शिंदे के हाथ आ सकता है. औद्योगिक शिवसेना के सुभाष देसाई, कांग्रेस के बालासाहेब थोरात को राजस्व, एनसीपी के दिलीप वालसे पाटिल को श्रम और आबकारी, एनसीपी के जीतेन्द्र अहवद को आवास और कांग्रेस के वर्षा गायकवाड़ को चिकित्सा शिक्षा मिल सकता है. एनसीपी के धनंजय मुंडे को सामाजिक न्याय मंत्रालय मिलने की संभावना है. सूत्रों ने कहा कि उपमुख्यमंत्री अजीत पवार को वित्त मंत्रालय मिलने की उम्मीद है. फिलहाल यह अभी तक ज्ञात नहीं है कि सामान्य प्रशासन विभाग के अलावा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे कौन से विभाग संभालेंगे.

महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार के बाद पृथ्वीराज चव्हाण सहित कई नेता नाराज, दिल्ली में आज सोनिया गांधी के साथ अहम बैठक

अभी तक मंत्रालयों के बंटवारे पर कुछ भी पुख्ता नहीं हो पाया है. वहीं इस बीच शिवसेना और कांग्रेस के कई विधायक नाराज बताए जा रहे हैं. कांग्रेस में पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चह्वाण भी नाराज नेताओं में से एक हैं. दूसरी आज सुबह एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा है कि मंत्रालयों में बंटवारे में देरी की कोई और वजह नहीं है बल्कि कुछ और विभाग बनाए जा रहे हैं जिसकी वजह से देरी हो रही है. 

महाराष्ट्र में मंत्री पद नहीं मिलने से नाराज कांग्रेस नेताओं को लेकर चर्चा​

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com