NDTV Khabar

'कांग्रेस अध्यक्ष' की स्वीकृति से बालासाहेब थोराट बनाए गए महाराष्ट्र कांग्रेस के नए अध्यक्ष

केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुताबिक केसी पडवी को विधायक दल का नेता बनाया गया है. राज्य विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए पार्टी ने राज्य में रणनीति समिति, घोषणा पत्र समिति, समन्वय समिति, चुनाव प्रचार समिति सहित नौ समितियां भी गठित की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'कांग्रेस अध्यक्ष' की स्वीकृति से बालासाहेब थोराट बनाए गए महाराष्ट्र कांग्रेस के नए अध्यक्ष

बालासाहेब थोराट बने महाराष्ट्र कांग्रेस के नए अध्यक्ष

खास बातें

  1. अशोक चाह्वाण की जगह बने अध्यक्ष
  2. कई और लोगों को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया
  3. कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने की घोषणा
नई दिल्ली:

कांग्रेस आलाकमान ने बालासाहेब थोराट को महाराष्ट्र कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया है. बता दें कि थोराट से पहले अशोक चाह्वाण महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष थे. अशोक चाह्वाण ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन की वजह से अपने पद इस्तीफा दे दिया था. थोराट को यह जिम्मेदारी राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले दी गई है. महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर बालासाहेब थोराट के नाम की घोषणा से पहले कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि माननीय कांग्रेस अध्यक्ष ने महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष और कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में नए लोगों की नियुक्ति को अपनी स्वीकृति दी है. 

बागी विधायकों से मिलने से रोका तो बोले कर्नाटक के मंत्री- राजनीति में हमारा जन्म साथ में हुआ और मरेंगे भी साथ में


केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुताबिक केसी पडवी को विधायक दल का नेता बनाया गया है. राज्य विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए पार्टी ने राज्य में रणनीति समिति, घोषणा पत्र समिति, समन्वय समिति, चुनाव प्रचार समिति सहित नौ समितियां भी गठित की है. इनमें राज्य से ताल्लुक रखने वाले तकरीबन सभी वरिष्ठ नेताओं को शामिल किया गया है. कांग्रेस ने नितिन राउत, बीएम पाटिल, विश्वजीत कदम, यशोमति चंद्रकांत ठाकुर और मुजफ्फर हुसैन को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है. ध्यान हो कि इस साल अक्टूबर-नवम्बर में राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं. 

कर्नाटक के बागी विधायक अब भी मुंबई में डटे, बोले- कभी नहीं छोड़ा शहर

हालांकि, केसी वेणुगोपाल की इस घोषणा के बाद राहुल गांधी द्वारा पार्टी अध्यक्ष का पद छोड़े जाने को लेकर लोग और खुद पार्टी के कार्यकर्ता दुविधा में पड़ते दिख रहे हैं. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने 3 जुलाई को अपना इस्तीफा देने के साथ ही एक चार पन्ने का पत्र भी लिखा था जिसमें उन्होंने इस्तीफा देने और पार्टी के खराब प्रदर्शन को लेकर कई  बातें कही थी. राहुल गांधी के इस्तीफा देने के बाद पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने उनसे निवेदन किया था कि वह अपना इस्तीफा वापस लें. लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी राहुल गांधी अपने फैसले पर अड़े रहे. 

टिप्पणियां

मानहानि के मामले में कोर्ट से जमानत मिलने के बाद बोले राहुल गांधी- आक्रमण हो रहा है, मजा आ रहा है

इन सब के बीच NDTV से खास बातचीत में एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने कहा कि राहुल गांधी अभी भी पार्टी के अध्यक्ष हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने उनका इस्तीफा अभी तक कबूल नहीं किया है. ऐसे में यह कहना कि वह पार्टी अध्यक्ष नहीं हैं यह गलत है. उन्होंने कहा कि वैसे भी किसी राज्य में किसे नया अध्यक्ष बनाना है कि ऐसे सभी निर्णय वह 27 जून को ही ले चुके हैं. उन्होंने कहा कि अशोक चाह्वाण ने कुछ दिन पहले ही अपना इस्तीफा यह कहते हुए दिया था कि वह लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार की पुरी जिम्मेदारी लेते हैं. और वह चाहते हैं कि वह पार्टी के लिए बगैर किसी के पद के काम करें. (इनपुट भाषा से) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement