NDTV Khabar

बीएमसी चुनाव : कमाठीपुरा के वोटरों ने लगाए पोस्टर, लिखा - बाहरी उम्मीदवारों की नो एंट्री

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीएमसी चुनाव : कमाठीपुरा के वोटरों ने लगाए पोस्टर, लिखा - बाहरी उम्मीदवारों की नो एंट्री
मुंबई:

मुंबई का सबसे पुराना और एशिया का दूसरा सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया कमाठीपुरा. इस इलाके के नाम पर कई लोग नाक-भौं सिकोड़ते हैं. इलाके से नफरत इसके हालात में भी नज़र आती है. तंग आकर इस बार मुंबई महानगरपालिका चुनावों से पहले मतदाताओं ने पोस्टर लगाए हैं. कह दिया है बाहर के उम्मीदवार यहां से पर्चा ना भरें उन्हें एंट्री नहीं मिलेगी.

मुंबई महानगरपालिका वॉर्ड नंबर 213 से कांग्रेस की शाहनीना रिज़वान खान पार्षद हैं जो बांद्रा में रहती हैं, लेकिन इस बार कमाठीपुरा के लोग बाहर के किसी भी उम्मीदवार को वोट देने के लिए तैयार नहीं है. आरोप है कि बाहर से थोपे उम्मीदवार इलाके की सुध नहीं लेते.

विशाल दीवान ने कहा मेरी पैदाइश कमाठीपुरा की है, तीन साल से नगर निगम स्कूल के लिए फंड पास हो गया है लेकिन यहां स्कूल नहीं बना है. आंखों का अस्पताल बंद है. प्रसूति अस्पताल भी तीन महीनों से बंद है. इसलिए हमने तय किया है कि बाहर के किसी उम्मीदवार को यहां एंट्री नहीं देंगे. वहीं रविन्द्र पांडे ने कहा बाहर का उम्मीदवार हमारी मुश्किल नहीं समझता इसलिए हम उन्हें वोट नहीं देंगे. कैंडिडेट यहीं का स्थानीय होना चाहिए.

21 फरवरी को बीएमसी के चुनाव होंगे, 23 को नतीजा आएगा. फिलहाल सारे प्रमुख राजनीतिक दल भी जनता के समर्थन में नज़र आ रहे हैं मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरूपम ने कहा हमारी पार्टी की भूमिका स्थानीय नागरिकों के समर्थन में है. पार्षद के चुनाव में बाहर के लोग स्थानीय समस्याओं को नहीं समझ पाते हैं. कुछ खास स्थिति में जैसे सीट रिजर्व होने पर हम बाहर से उम्मीदवार लाते हैं नहीं तो स्थानीय उम्मीदवार की मांग बिल्कुल जायज है.


टिप्पणियां

मुंबई बीजेपी अध्यक्ष आशीष शेलार ने भी कहा कि उनकी पार्टी इस मुद्दे का समर्थन करती है. मुंबई महानगरपालिका का बजट 37,000 करोड़ रुपये का है. ऐसे में कमाठीपुरा की मांग में एक बेबसी भी दिखती है वोट मांगने आने फिर जनता को भूल जाने की.

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement