Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

शिवाजी पार्क में उद्धव के शपथ पर बॉम्बे HC ने कहा, 'हम प्रार्थना कर रहे हैं कि...'

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण समारोह शिवाजी पार्क में आयोजित करने पर बंबई उच्च न्यायालय ने बुधवार को सुरक्षा संबंधी चिंता जताई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवाजी पार्क में उद्धव के शपथ पर बॉम्बे HC ने कहा, 'हम प्रार्थना कर रहे हैं कि...'

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. उच्च न्यायालय ने बुधवार को सुरक्षा संबंधी चिंता जताई
  2. कहा, हर कोई ऐसे कार्यक्रम के लिए मैदान को इस्तेमाल करना चाहेगा
  3. गैर सरकारी संगठन ‘वीकम ट्रस्ट’ की याचिका पर की सुनवाई
मुंबई:

बॉम्बे हाईकोर्ट ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण समारोह पर चिंता जताई है. उच्च न्यायालय ने बुधवार को सुरक्षा संबंधी चिंता जताते हुए कि सार्वजनिक मैदानों पर इस किस्म के कार्यक्रमों को आयोजित करने का यह नियमित सिलसिला नहीं होना चाहिए. न्यायमूर्ति एससी धर्माधिकारी और न्यायमूर्ति आरआई छागला की खंडपीठ ने कहा कि अन्यथा हर कोई इस तरह के कार्यक्रम के लिए मैदान को इस्तेमाल करना चाहेगा. ठाकरे बृहस्पतिवार शाम को दादर के शिवाजी पार्क में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. 

महाराष्ट्र में किसके होंगे कितने मंत्री, Congress-NCP और शिवसेना में विभागों के बंटवारे को लेकर आया बयान

अदालत गैर सरकारी संगठन ‘वीकम ट्रस्ट' की याचिका पर सुनवाई कर रही थी. इस मामले में सवाल उठाया गया कि शिवाजी पार्क खेल का मैदान है या मनोरंजन का स्थल. इस पर अदालत ने कहा, ‘‘कल के कार्यक्रम के बारे में हम कुछ नहीं कहना चाहते...हम केवल यह प्रार्थना कर रहे हैं कि कुछ अप्रिय न घटे.'' अदालत ने कहा, ‘‘दरअसल होगा यह कि यह (कार्यक्रम आयोजन) एक परंपरा बन जाएगा और फिर हर कोई इस तरह के कार्यक्रमों के लिए मैदान का इस्तेमाल करना चाहेगा.'' इसी संगठन की जनहित याचिका पर वर्ष 2010 में उच्च न्यायालय ने इस क्षेत्र को ‘साइलेंस जोन' घोषित कर दिया था.


महाराष्ट्र में कैसे पलटी बाजी? 
23 नवंबर की सुबह बीजेपी के देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेकर पूरे देश को चौंका दिया था. साथ में अजित पवार ने डिप्‍टी सीएम पद की शपथ ली थी. इसके बाद कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए थे. सोमवार को इस मामले में सुनवाई हुई और फैसला मंगलवार की सुबह 10:30 बजे तक के लिए सुरक्षित रख लिया गया. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को अपने फैसले में कहा कि बुधवार शाम 5 बजे तक सदन में देवेंद्र फडणवीस बहुमत साबित करें. साथ ही यह भी निर्देश दिया कि बहुमत साबित करने के लिए गुप्‍त मतदान नहीं होंगे और इसका लाइव प्रसारण किया जाएगा. इस फैसले के बाद कल सदन में बहुमत साबित करने की तैयारी शुरू हो गई. बीजेपी की ओर से कहा गया कि हम सदन में बहुमत साबित कर देंगे. एनसीपी की ओर से अजित पवार को लगातार मनाने की कोशिश होती रही.

टिप्पणियां

पहले अजित पवार और फिर फडणवीस ने दिया इस्तीफा 
कोर्ट के फैसले के थोड़ी देर बाद ही अजित पवार ने अपने पद से इस्‍तीफा देकर सबों को चौंका दिया. अजित पवार के इस्‍तीफे के बाद देवेंद्र फडणवीस की तरफ से प्रेस कॉन्‍फ्रेंस किए जाने की सूचना आई. प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को जनता ने जनादेश दिया था लेकिन शिवसेना कांग्रेस-एनसीपी के साथ बात करने लगी. यह कहा गया कि ढाई-ढाई साल के लिए सीएम पद की बात हुई थी जबकि ऐसा कुछ भी नहीं था. देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हमारे पास बहुमत नहीं है.और इसके साथ ही अपने इस्‍तीफे की घोषणा कर दी. (इनपुट-भाषा से भी)

VIDEO: महाराष्ट्र: आखिर अजित पवार की वापसी कैसे हुई?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... युजवेंद्र चहल के पास आकर लड़की ने किया ऐसा डांस, देखते ही भागा क्रिकेटर, 30 लाख से ज्यादा बार देखा गया Video

Advertisement