NDTV Khabar

बंबई हाईकोर्ट ने मालेगांव विस्फोट के आरोपियों की याचिकाएं खारिज की

आरोपियों ने गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (यूएपीए) के तहत महाराष्ट्र सरकार द्वारा उन पर मुकदमा चलाने की अनुमति देने को चुनौती दी थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बंबई हाईकोर्ट ने मालेगांव विस्फोट के आरोपियों की याचिकाएं खारिज की

कोर्ट ने श्रीकांत प्रसाद पुरोहित और समीर कुलकर्णी की याचिकाओं को खारिज कर दिया.

मुंबई:

बंबई उच्च न्यायालय ने 2008 के मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत प्रसाद पुरोहित और समीर कुलकर्णी की याचिकाओं को खारिज कर दिया. आरोपियों ने गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम (यूएपीए) के तहत महाराष्ट्र सरकार द्वारा उन पर मुकदमा चलाने की अनुमति देने को चुनौती दी थी.

यह भी पढ़ें : वर्दी मेरी त्वचा की ऊपरी परत, फिर से चाहता हूं पहनना : लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित

याचिकाओं में कहा गया था कि यूएपीए के तहत मुकदमा चलाने की अनुमति देने वाले राज्य के कानून और न्याय विभाग को उचित प्राधिकरण से रिपोर्ट लेनी होती है. पुरोहित के वकील श्रीकांत शिवाडे ने कहा, 'इस मामले में जनवरी 2009 में अनुमति दी गई थी, लेकिन प्राधिकरण का गठन अक्तूबर 2010 में किया गया. अत: मंजूरी का आदेश गलत है.'


यह भी पढ़ें : बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपमुक्त हुए लोगों को नोटिस भेजा

एनआईए की ओर से पेश हुए वकील संदेश पाटिल ने कहा, 'पुरोहित ने मंजूरी दिए जाने का मामला तब उठाया था जब उनकी जमानत याचिका पर उच्च न्यायालय में दलील दी जा रही थी. उच्च न्यायालय ने अपने आदेश में कहा था कि मंजूरी दिए जाने के मुद्दे पर अब इस समय विचार नहीं किया जा सकता और इस पर निचली अदालत विचार कर सकती है.'  उन्होंने कहा कि यहां तक कि उच्चतम न्यायालय ने पुरोहित को जमानत देते हुए भी यही बात कही थी.

टिप्पणियां

VIDEO : मालेगांव धमाके के आरोपी कर्नल पुरोहित 9 साल बाद जेल से बाहर

उच्च न्यायालय ने एनआईए के वकील की दलीलों को आज स्वीकार कर लिया और याचिकाओं को खारिज कर दिया. 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement