NDTV Khabar

पीएम मोदी को 'अनपढ़-गंवार' वाले अपने बयान पर अड़े कांग्रेस नेता संजय निरूपम, बोले- लोकतंत्र में PM भगवान नहीं होता

संजय निरूपम का कहना है कि उन्होंने बुधवार को पीएम मोदी को लेकर जो टिप्पणी की थी, उसमें कुछ भी गलत नहीं हैं और वह अपने बयान पर अब भी कायम हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी को 'अनपढ़-गंवार' वाले अपने बयान पर अड़े कांग्रेस नेता संजय निरूपम, बोले- लोकतंत्र में PM भगवान नहीं होता

मुंबई कांग्रेस के प्रमुख संजय निरुपम (फाइल फोटो)

मुंबई: कांग्रेस की मुंबई इकाई के प्रमुख संजय निरूपम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर बुधवार को एक विवादित बयान दिया. हालांकि, वह अपने बयान को विवादित और गलत मानने से इनकार कर रहे हैं. उनका कहना है कि उन्होंने बुधवार को पीएम मोदी को लेकर जो टिप्पणी की थी, उसमें कुछ भी गलत नहीं हैं और वह अपने बयान पर अब भी कायम हैं. उन्होंने कहा कि यह यह लोकतंत्र है, और लोकतंत्र में प्रधानमंत्री भगवान नहीं होते हैं. लोग उनके बारे में डेकोरम का ध्यान रखकर ही बात करते हैं. मैंने जिन शब्दों का इस्तेमाल किया, वे अभद्र नहीं थे."

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने पीएम मोदी को बताया अनपढ़, प्रधानमंत्री की डिग्री को लेकर कही यह बात...

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शुरुआती जीवन को दर्शाने वाली फिल्म के महाराष्ट्र में जिला परिषद के स्कूलों में दिखाए जाने पर कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने अपने बयान में पीएम मोदी को निरक्षर करार दे दिया था. कांग्रेस नेता निरुपम ने कहा था, ‘जबरन फिल्म दिखाने का फैसला गलत है. बच्चों को राजनीति से दूर रखना चाहिए. मोदी जैसे अशिक्षित और निरक्षर व्यक्ति पर बनी फिल्म देखकर बच्चे क्या सीखेंगे?’ निरुपम ने कहा, ‘बच्चों और लोगों को तो यह भी नहीं पता कि प्रधानमंत्री के पास कितनी डिग्रियां हैं.’ 

पेट्रोल-डीजल की कीमतों का विरोध : रामलीला मैदान में विपक्ष का मंच और चर्चा में PM मोदी की एक तस्वीर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शुरुआती जीवन को दर्शाने वाली फिल्म के महाराष्ट्र में जिला परिषद के स्कूलों में दिखाए जाने पर कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने अपने बयान 'जो बच्चे स्कूल, कॉलेज में पढ़ रहे हैं, मोदी जैसे अनपढ़-गंवार के बारे में जानकर उनको क्या मिलेगा..' पर कहा कि, "यह लोकतंत्र है, और लोकतंत्र में प्रधानमंत्री भगवान नहीं होते हैं. लोग उनके बारे में डेकोरम का ध्यान रखकर ही बात करते हैं. मैंने जिन शब्दों का इस्तेमाल किया, वे अभद्र नहीं थे."
आगे उन्होंने कहा, "अगर बच्चे प्रधानमंत्री की शैक्षिक योग्यता के बारे में पूछेंगे, तो आप उन्हें क्या बताएंगे...? लोगों को उनकी शैक्षिक योग्यता के बारे में नहीं पता... कौन-सी ताकतें हैं, जो दिल्ली विश्वविद्यालय को उनकी डिग्री जारी करने से रोक रही हैं, जबकि दावा किया जाता है कि वह वहीं पढ़े हैं..."

हालांकि, संजय निरूपम के बयान पर भाजपा नेताओं ने कड़ा विरोध जताया. भाजपा की महाराष्ट्र इकाई की प्रवक्ता शाइना एनसी ने निरुपम को ‘‘मानसिक तौर पर विक्षिप्त’’ करार दिया.

टिप्पणियां
जीएसटी का समर्थन न करें और न ही ब्रांड एंबेसडर बनें अमिताभ बच्चन : संजय निरुपम

इससे पहले भी संजय निरूपम अपने बयान को लेकर विवादों में फंस चुके हैं. संयज निरुपम ने एक बार कहा था कि , ' देश में वफादारी का एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है वजुभाई वाला जी ने. शायद हिंदुस्तान का हर आदमी अपने कुत्ते का नाम वजुभाई वाला ही रखेगा, क्योंकि इससे ज्यादा वफादार तो कोई हो ही नहीं सकता. ' हालांकि, उनके इस बयान पर भी काफी बवाल हुआ था. 
 
VIDEO: पकौड़े पर राजनीति, मुंबई में कांग्रेस ने किया विरोध प्रदर्शन


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement