NDTV Khabar

महाराष्ट्र : खुदकुशी करने वाले 208 किसानों के परिवारों को कांग्रेस विधायक पाटिल ने गोद लिया

बीमा, स्कूल फीस के अलावा शादी योग्य लड़कियों के विवाह के सम्पूर्ण खर्चे तक की जिम्मेदारी उठाएंगे विधायक राधाकृष्ण विखे पाटिल

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र : खुदकुशी करने वाले 208 किसानों के परिवारों को कांग्रेस विधायक पाटिल ने गोद लिया

कांग्रेस के विधायक राधाकृष्ण विखे पाटिल ने खुदकुशी करने वाले 208 किसानों के परिवारों को गोद लिया है.

खास बातें

  1. पाटिल ने अपने जन्मदिन पर एक कार्यक्रम में योजना का शुभारंभ किया
  2. कहा, किसान आत्महत्याओं को राजनीति से ऊपर उठकर देखने की जरूरत
  3. परिवारों को उनकी सटीक जानकारी इकट्ठी करने के बाद योजना में शामिल किया
मुंबई: जब महाराष्ट्र किसानों की आत्महत्याओं के लिए बदनाम हो रहा हो तब राज्य कांग्रेस के वरिष्ठ नेता की पहल काबिल ए तारीफ है. पार्टी के पूर्व मंत्री और मौजूदा नेता विपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल ने आत्महत्या करने वाले 208 किसानों के परिवारों को गोद लिया है.

देश के पूर्व वित्त राज्यमंत्री बालासाहब विखे-पाटिल के नाम से बनी सामाजिक संस्था के माध्यम से यह काम किया गया. गुरुवार को बालासाहब के बेटे राधाकृष्ण ने अपने जन्मदिन के मौके पर एक सार्वजनिक कार्यक्रम में योजना का शुभारंभ किया. गोद लिए गए सभी 208 परिवार ऐसे किसानों के हैं जिन्होंने आत्महत्या की. आज यह परिवार जीवन-यापन के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

टिप्पणियां
अपनी योजना को सफल बनाने के लिए विखे ने परिवारों की सटीक जानकारी इकट्ठी की. इन परिवारों की जरूरतों को समझा गया. इसके अनुसार बीमा, स्कूल फीस के अलावा शादी योग्य लड़कियों के विवाह के सम्पूर्ण खर्चे तक की जिम्मेदारी उठाई जा रही है. गुरुवार को 208 परिवारों को प्रमाणित करते समय यह भी ऐलान किया गया कि हर परिवार में से एक व्यक्ति को राधाकृष्ण विखे-पाटिल अपनी संस्थाओं में नौकरी भी देंगे.

इस मौके पर विखे ने मीडिया को बताया कि किसान आत्महत्याओं को राजनीति से ऊपर उठकर देखने की जरूरत है और वे भी यही कर रहे हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement