NDTV Khabar

सहनशीलता की संस्कृति की रक्षा करना संवैधानिक कर्तव्य : मुख्तार अब्बास नकवी

मंगलवार की रात बेंगलूर के राज राजेश्वरी नगर स्थित गौरी के घर के गेट पर कुछ अज्ञात हमलावरों ने उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया, जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई .

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सहनशीलता की संस्कृति की रक्षा करना संवैधानिक कर्तव्य : मुख्तार अब्बास नकवी

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  1. गौरी के घर के गेट पर अज्ञात हमलावरों ने उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया.
  2. मौके पर ही गौरी की मौत हो गई.
  3. मंगलवार की रात बेंगलूर के राज राजेश्वरी नगर की घटना.
मुंबई: वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को लेकर देशभर में आक्रोश देखा गया. इस पर राजनीतिक बयानबाजी का दौर भी चल रहा है. केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने गुरुवार को कहा कि सहनशीलता भारत की संस्कृति एवं प्रतिबद्धता है और इसकी रक्षा ‘हमारा संवैधानिक कर्तव्य’ है . नकवी ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि किसी तरह की हिंसा और अराजकता देश के सामाजिक सद्भाव के तानेबाने और विविधता में एकता की भारत की ताकत को कमजोर करने की साजिश है . उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार किसी विध्वंसक एजेंडा को हमारे विकास के एजेंडा पर हावी नहीं होने देगी.’ वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को लेकर देश भर में पैदा हुए आक्रोश की पृष्ठभूमि में नकवी की यह टिप्पणी आयी है .

मंगलवार की रात बेंगलूर के राज राजेश्वरी नगर स्थित गौरी के घर के गेट पर कुछ अज्ञात हमलावरों ने उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया, जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई .

यह भी पढे़ं : मोदी मंत्रिमंडल विस्तार में दिखी 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए सरकार की खास तैयारी

नकवी ने कहा कि समाज के गरीब और कमजोर तबके का देश के संसाधनों पर पहला हक है और नरेंद्र मोदी सरकार समाज के हर तबके की प्रगति के लिए प्रतिबद्ध है .

संसदीय कार्य मंत्रालय और कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया की ओर से संयुक्त तौर पर बांद्रा रेलवे स्टेशन पर आयोजित ‘न्यू इंडिया - वी रिजॉल्व टू मेक’ फोटो प्रदर्शनी सह सांस्कृतिक कार्यक्रम के उद्घाटन के बाद अपने संबोधन में नकवी ने यह टिप्पणी की .

VIDEO : मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, निंदा से ज़्यादा ज़रूरी है कार्रवाई हो​
उन्होंने कहा, ‘सहनशीलता भारत की संस्कृति और प्रतिबद्धता है और सहनशीलता की संस्कृति की रक्षा और इसे मजबूत करना हमारा संवैधानिक कर्तव्य है .’(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement