NDTV Khabar

प्रकाश अंबेडकर ने महाराष्ट्र बंद वापस लेने का किया ऐलान, लोकल ट्रेन की सेवाएं फिर से बहाल    

63 साल के प्रकाश अंबेडकर द्वारा घोषित किए गए बंद के आह्वान को 250 से अधिक दलित संगठनों का समर्थन था. 

674 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रकाश अंबेडकर ने महाराष्ट्र बंद वापस लेने का किया ऐलान, लोकल ट्रेन की सेवाएं फिर से बहाल    
मुंबई: महाराष्ट्र के पुणे जिले में भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं सालगिराह के दौरान हुई हिंसा की आग मुंबई समेत राज्य के कई शहरों में फैल गई. इसे लेकर बाबा साहेब बीआर अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर ने हिंसा रोकने में सरकार की विफलता के खिलाफ बुधवार को जारी एक दिन का बंद वापस ले लिया है. गौरतलब है कि 63 साल के प्रकाश अंबेडकर द्वारा घोषित किए गए बंद के आह्वान को 250 से अधिक दलित संगठनों का समर्थन था. 

भारिप बहुजन महासंघ के नेता प्रकाश अंबेडकर ने आज कहा कि भीमा कोरेगांव लड़ाई के स्मृति कार्यक्रम के खिलाफ हुई हिंसा के विरोध में विभिन्न दलित एवं अन्य संगठनों द्वारा बुलाया गया दिनभर का महाराष्ट्र बंद वापस ले लिया गया है. उन्होंने कहा कि राज्य की करीब 50 फीसद लोगों ने इस बंद में हिस्सा लिया. 

यह भी पढ़ें : मुंबई में दिखा दलित समुदाय के बंद का असर, कई बसें तोड़ीं, रेल सेवा की बाधित

इससे पहले दलितों के प्रदर्शन के कारण मुंबई के लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. बंद के दौरान सरकारी परिवहन की बसों पर पथराव की छिटपुट घटनाओं को छोड़ दें तो स्थिति सामान्य रही. बंद की वजह से कई स्कूलों तथा बाजारों को आज बंद रखा गया था. राज्य में दलित नेताओं के बंद के आह्वान के बीच मुंबई में एक बार फिर बसों को निशाना बनाया गया. प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान रेल सेवा को भी बाधित किया.

इस बीच राज्यसभा और लोकसभा में भी विपक्ष के सदस्‍यों ने महाराष्ट्र में जातीय हिंसा का मुद्दा उठाया. राज्‍यसभा में सभापति एम वेंकैया नायडू ने इसकी अनुमति नहीं दी. वहीं लोकसभा में कांग्रेस नेता मलिल्कार्जुन खड़गे ने कहा कि कार्यक्रम में किसने दखल दिया था? उन्‍होंने कहा कि समाज में बंटवारा करने के लिए, कट्टर हिंदुत्ववादी जो वहां आरएसएस के लोग हैं और इसके पीछे उनका हाथ है. उन्‍होंने कहा कि महाराष्ट्र हिंसा पर पीएम मोदी चुप नहीं रह सकते! वह ऐसे मुद्दों पर 'मौनी बाबा' कैसे हो सकते हैं. 

मलिकार्जुन खड़गे ने कहा कि देश के दलितों पर अत्‍याचार हो रहा है और जहां-जहां बीजेपी की सरकार वहां ज्‍यादा-ज्‍यादा दंगे होते हैं. वहीं संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि महाराष्‍ट्र में जो आग लगी है उसको भड़काने का काम राहुल गांधी और कांग्रेस कर रही है. उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस हिंसा पर राजनीति कर रही है. उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस बांटो और शासन करो की राजनीति कर रही है. 

VIDEO : पुणे हिंसा की गूंज संसद तक


प्रदर्शन के मद्देनजर जगह-जगह रोड ब्लॉक किए गए थे. लेकिन अब खबर आ रही है कि पश्चिमी एक्सप्रेसवे को अब खोल दिया गया है. वहीं, रमाबाई अंबेडकर नगर के निकट यातायात नाकाबंदी के कारण पूर्वी एक्सप्रेसवे पर यातायात प्रभावित है. असुविधा से बचने के लिए आवागमन को बदल दिया गया था.

मुंबई के चेम्बूर जोन 6 के डीसीपी शहाजी उमाप ने कहा कि मंगलवार की हिंसा पर अभी तक कुल 8 मामले दर्ज किए गए हैं और 15 लोग गिरफ्तार भी किए जा चुके हैं. बुधवार सुबह से कड़ा बंदोबस्त रखा गया है और स्थिति बिगड़ने नहीं दी जाएगी. मुंबई के एनएम जोशी मार्ग पर प्रदर्शनकारियों ने जबरन कई दुकानें बंद कराई. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement