NDTV Khabar

महाराष्ट्र में परिवारवाद का बोलबाला, इन परिवारों के रिश्तेदार पहुंचे विधानसभा

महाराष्ट्र में 14 वीं विधानसभा के संपन्न हुए हालिया चुनाव में नामी-गिरामी राजनीतिक परिवारों के रिश्तेदार विधायक के तौर पर निर्वाचित होने में कामयाब रहे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र में परिवारवाद का बोलबाला, इन परिवारों के रिश्तेदार पहुंचे विधानसभा

प्रतीकात्मक तस्वीर.

मुंबई:

महाराष्ट्र में 14 वीं विधानसभा के संपन्न हुए हालिया चुनाव में नामी-गिरामी राजनीतिक परिवारों के रिश्तेदार विधायक के तौर पर निर्वाचित होने में कामयाब रहे. राकांपा संस्थापक शरद पवार के भतीजे और बारामती के विधायक अजित पवार को भतीजे रोहित पवार का भी साथ मिलेगा. रोहित पवार ने भाजपा के विधायक और मंत्री राम शिंदे को करजात जामखेड़ से हराया. अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा के भतीजे रानाजगजीत सिन्हा पाटिल भाजपा के टिकट पर तुलजापुर से चुने गए. पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख के बेटे-अमित और धीरज देशमुख क्रमश: लातूर सिटी और लातूर ग्रामीण सीटों से जीते. राकांपा के लिए बबन शिंदे ने अपनी मढा सीट कायम रखी और छोटे भाई संजय शिंदे सोलापुर जिले में राकांपा समर्थित निर्दलीय के तौर पर करमाला से जीते.

राकांपा के वरिष्ठ नेता छगन भुजबल ने नासिक जिले में येओला सीट बरकरार रखी जबकि उनके बेटे पंकज को नंदगांव सीट पर हार का सामना करना पड़ा. पर्ली में निवर्तमान विधायक और मंत्री पंकजा मुंडे को उनके चचेरे भाई और वरिष्ठ राकांपा नेता धनंजय मुंडे ने हराया. नासिक पश्चिम में सीमा हीरे ने राकांपा की अपनी रिश्तेदार अपूर्वा हिरे को हराया. निलंगा में भाजपा के मंत्री संभाजी पाटिल निलंगेकर और उनके चाचा और कांग्रेस उम्मीदवार अशोक निलंगेकर के बीच मुकाबला था. संभाजी पाटिल को यहां पर जीत मिली. अशोक पूर्व मुख्यमंत्री शिवाजीराव पाटिल निलंगेकर के बेटे हैं. बीड में इसी तरह का मुकाबला हुआ, जहां राकांपा के संदीप क्षीरसागर ने चाचा और मंत्री जयदत्त क्षीरसागर को हराया. इसके विपरीत अहेरी सीट पर रांकपा के धर्मराव अतराम ने अपने भतीजे और भाजपा उम्मीदार अंबरीश अतराम को हराया.


टिप्पणियां

नयी पीढ़ी से पारिवारिक विरासत को आगे ले जाने के लिए आने वाले नेताओं में राकांपा नेता सुनीत तटकरे की बेटी अदिति ने श्रीवर्द्धन से जीत हासिल की जबकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे की बेटी परिणति शिंदे लगातार तीसरी बार सोलापुर सिटी मध्य सीट बरकरार रखने में कामयाब रहीं. पुसाड में राकांपा नेता मनोहर नाइक के बेटे इंद्रनील ने भाजपा टिकट पर लड़ रहे निलय को हराया. दपोली में शिवसेना के मंत्री रामदास कदम के बेटे योगेश को जीत मिली जबकि शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत के भाई सुनीत राउत मुंबई के विखरोली निर्वाचन क्षेत्र में जीते. बहुजन विकास आघाड़ी के उम्मीदवार पिता-पुत्र हितेंद्र ठाकुर और क्षितिज ठाकुर क्रमश: वसई और नालासोपारा से जीते. शिवसेना के नेता और मंत्री एकनाथ शिंदे ने ठाणे में पचपकडी सीट कायम रखी. उनके बेटे श्रीकांत, कल्याण सीट से सांसद हैं. 

कंकावली में नितेश राणे ने अपनी सीट कायम रखी जबकि पिता नारायण राणे भाजपा सांसद हैं. संतोष दानवे ने अपनी भोकारदन सीट पर फिर जीत हासिल की जबकि उनके पिता केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे जालना से सांसद हैं.     राधाकृष्ण विखे पाटिल शिरडी सीट पर जीतने में कामयाब रहे जबकि पुत्र सुजय विखे पाटिल अहमदनगर से भाजपा सांसद हैं. निर्दलीय उम्मीदवार रवि राणा ने अपनी बदनेरा सीट कायम रखी. उनकी पत्नी नवनीत राणा अमरावती से लोकसभा सदस्य हैं. राज्य से कांग्रेस के इकलौते सांसद सुरेश धानोरकड़ की पत्नी प्रतिभा वरोड़ा से जीतने में सफल रहीं. राहुल नरवेकर ने भाजपा के टिकट पर कोलाबा सीट से जीत हासिल की जबकि उनके ससुर रामराजे नाइक निंबालकर विधान परिषद के सभापति और राकांपा नेता हैं. कांग्रेस के दिवंगत नेता पतंगराव कदम के बेटे विश्वजीत कदम पालुस काडेगांव से जीतने में कामयाब रहे. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement