NDTV Khabar

गोरखपुर में हार के बाद BJP पर शिवसेना का हमला, कहा- 2019 लोकसभा चुनाव में होगा 110 सीटों का नुकसान

शिवसेना ने अपने सहयोगी पर कटाक्ष करते हुए कहा अपने दोस्तों को छोड़ने वालों और झूठ का रास्ता अपनाने वालों की हार तय है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गोरखपुर में हार के बाद BJP पर शिवसेना का हमला, कहा- 2019 लोकसभा चुनाव में होगा 110 सीटों का नुकसान

फाइल फोटो

खास बातें

  1. गोरखपुर में हार के बाद BJP पर शिवसेना का हमला
  2. कहा- नतीजों से पार्टी में खलबली, 2019 में हार तय
  3. 'पार्टी को कम से कम 110 सीटों का नुकसान झेलना पड़ेगा'
मुंबई: गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में भाजपा की हार को ‘अहंकार और दंभ’ की पराजय बताते हुए शिवसेना ने शुक्रवार को अपने सहयोगी दल पर हमला करते हुए कहा कि 2019 के आम चुनावों में संसद के निचले सदन में पार्टी को कम से कम 110 सीटों का नुकसान झेलना पड़ेगा. शिवसेना ने अपने सहयोगी पर कटाक्ष करते हुए कहा अपने दोस्तों को छोड़ने वालों और झूठ का रास्ता अपनाने वालों की हार तय है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में एक संपादकीय में कहा है, ‘‘इन नतीजों ने भाजपा खेमे में खलबली मचा दी है. पार्टी के दो मजबूत किले - गोरखपुर और फूलपुर में सपा जीत गई.’’

यह भी पढ़ें: रामदास कदम ने कहा - शिवसेना अगला चुनाव अकेले ही लड़ेगी 

 पार्टी ने कहा कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से 10 लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा 9 पर चुनाव हार गई. उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी ने कहा, ‘‘शुरुआत में लोकसभा में भाजपा के 282 सदस्य थे लेकिन अब यह संख्या 272 तक नीचे आ चुकी है. मोदी और शाह के नेतृत्व में भाजपा करीब-करीब सारे उपचुनाव हार चुकी है.’’ पार्टी ने सवाल किया है, ‘‘पिछले साल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 325 सीटें जीतकर भाजपा ने रिकॉर्ड बनाया. योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने जबकि केशव मौर्य उपमुख्यमंत्री बने. वर्ष 1991 के बाद से आदित्यनाथ गोरखपुर सीट कभी नहीं हारे थे. लेकिन अब मुख्यमंत्री बनने के बावजूद उनकी पार्टी हार गयी. अगर भाजपा त्रिपुरा में वाम सरकार को हरा सकती है तो गोरखपुर में क्यों नहीं जीत सकती.’’ 

यह भी पढ़ें: उपचुनाव में बीजेपी की हार पर शिवसेना ने किया तंज, विपक्ष पर भी उठाए सवाल

टिप्पणियां
बिहार में अररिया लोकसभा सीट और जहानाबाद विधानसभा सीट पर राजद की जीत का जिक्र करते हुए शिवसेना ने कहा कि यह सब दिखाता है कि भाजपा जमीनी आधार खो चुकी है. शिवसेना ने कहा, ‘‘अब यह साफ है कि 2019 में भाजपा को 280 सीटें नहीं मिलने वालीं. सीटों की संख्या कम से कम 100-110 तक घट जाएगी. इसलिए भाजपा को जमीन पर रहना चाहिए. अपने दोस्तों को छोड़ने वालों और झूठ का रास्ता अख्तियार करने वालों की हार तय है. गिरना जब शुरू होता है तो कोई भी चाणक्य उस गिरावट को नहीं रोक सकता.’’

VIDEO: शिवसेना लोकसभा का चुनाव अपने दम पर लड़ेगी : उद्धव ठाकरे



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement