Coronavirus से लड़ने के लिए नौसेना ने तैयार की ये स्पेशल गन, जानिए इसकी कीमत और खासियत

दिखने में आपको भले ही यह सामान्य पिस्टल लग रही हो लेकिन कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ लड़ाई में यह गन काफी अहम है. इस गन को नौसेना (Navy) ने बनाया है.

Coronavirus से लड़ने के लिए नौसेना ने तैयार की ये स्पेशल गन, जानिए इसकी कीमत और खासियत

भारतीय नौसेना ने इस गन को तैयार किया है.

खास बातें

  • दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर जारी
  • 45 हजार से ज्यादा लोगों की हो चुकी है मौत
  • भारत में संक्रमितों का आंकड़ा 2300 के पार
मुंबई:

दिखने में आपको भले ही यह सामान्य पिस्टल लग रही हो लेकिन कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ लड़ाई में यह गन काफी अहम है. इस गन को नौसेना (Navy) ने बनाया है. मुंबई के नेवल डॉक्यार्ड ने लोगों के शरीर के तापमान की जांच करने के लिए यह सेंसर तकनीक से लैस गन तैयार की है. यह थर्मल गन इतनी सटीक है कि शरीर का तापमान 0.02 डिग्री तक को यह माप सकती है. यह इंफ्रारेड तकनीक वाली गन कोरोना की जांच के लिए काफी असरदार है.

इस गन में एक एलईडी डिस्पले और एक माइक्रो कंट्रोलर भी लगा है, जो 9 वोल्ट की बैटरी से चलता है. सबसे बड़ी बात है इसकी कीमत भी ज्यादा नहीं है. इसकी कीमत मात्र 1000 रुपये है. बाजार में इस क्वालिटी की गन की कीमत 8 हजार से लेकर 20 हजार रुपये तक है. नौसेना की पश्चिमी कमान के 285 साल पुराने नेवल डॉक्यार्ड में रोजाना करीब 20 हजार लोग आते हैं. अब इस गन के आने के बाद वहां हर आने वाले की जांच की जा रही है और अगर तापमान सही पाया जाता है, तभी उसकी इंट्री डॉक्यार्ड में हो पाती है. वैसे फिलहाल यह गन बाजार में आपको नहीं मिलेगी लेकिन अगर डिमांड हो तो नौसेना की जरुरत पूरा करने के बाद नेवल डॉक्यार्ड आम लोगों के लिए भी इसे बना सकता है.

b084n9u8

Madhya Pradesh: कोरोना संक्रमण फैलाने के आरोप में देवास और आगर-मालवा जिले में 23 गिरफ्तार

बताते चलें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कोरोना वायरस से लड़ाई को लेकर एक वीडियो संदेश के जरिए 130 करोड़ भारतीयों को संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा, 'कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ देशव्यापी लॉकडाउन को आज 9 दिन हो रहे हैं. इस दौरान आप सभी ने अनुशासन और सेवाभाव, दोनों का जो परिचय दिया है, वो अभूतपूर्व है.' पीएम मोदी ने अपने संबोधन में देशवासियों से 5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने घरों के दरवाजों या बालकनी में आकर दीया, मोमबत्ती, टॉर्च या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने का आग्रह किया है. पीएम ने कहा कि इस दौरान लोग अपने घरों की लाइटें बंद कर दें.

कोरोना से जंग के लिए टाटा समूह ने की 1500 करोड़ की घोषणा, तो बिग बॉस के एक्स कंटेस्टेंट बोले- महापुरुष खड़े होकर...

पीएम ने आगे कहा, 'ये लॉकडाउन का समय जरूर है, हम अपने-अपने घरों में जरूर हैं, लेकिन हम में से कोई अकेला नहीं है. 130 करोड़ देशवासियों की सामूहिक शक्ति हर व्यक्ति के साथ है. हमारे यहां माना जाता है कि जनता जनार्दन, ईश्वर का ही रूप होती है, इसलिए जब देश इतनी बड़ी लड़ाई लड़ रहा हो, तो ऐसी लड़ाई में बार-बार जनता रूपी महाशक्ति का साक्षात्कार करते रहना चाहिए. हमें निरंतर प्रकाश की ओर जाना है, जो इस कोरोना संकट से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं, हमारे गरीब भाई-बहन, उन्हें कोरोना संकट से पैदा हुई निराशा से आशा की तरफ ले जाना है.'

VIDEO: जो कोरोना को पराजित कर चुके हैं आज हमें उनसे प्रेरणा लेनी है : PM मोदी

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com