मुंबई : गैर इरादतन हत्या के मामले को रद्द करने की मांग को लेकर कमला मिल्स के निदेशक पहुंचे हाईकोर्ट

यह मामला 29 दिसंबर को कमला हिल्स परिसर में आग लगने की घटना से संबंधित है जिसमें 14 लोगों की जान चली गई थी. निदेशक रवि भंडारी की याचिका न्यायमूर्ति बीआर गवई और न्यायमूर्ति बीपी कोलाबावाला की खंडपीठ के समक्ष कल आई थी.

मुंबई : गैर इरादतन हत्या के मामले को रद्द करने की मांग को लेकर कमला मिल्स के निदेशक पहुंचे हाईकोर्ट

फाइल फोटो

मुंबई:

मुंबई के कमला मिल्स  लिमिटेड के निदेशक ने अपने खिलाफ दर्ज गैर इरादतन हत्या के मामले को रद्द करने की मांग वाली याचिका बंबई उच्च न्यायालय में दाखिल की है. यह मामला 29 दिसंबर को कमला हिल्स परिसर में आग लगने की घटना से संबंधित है जिसमें 14 लोगों की जान चली गई थी. निदेशक रवि भंडारी की याचिका न्यायमूर्ति बीआर गवई और न्यायमूर्ति बीपी कोलाबावाला की खंडपीठ के समक्ष कल आई थी. अब मामले पर सुनवाई दो हफ्ते बाद होगी.  पीठ ने कहा कि याचिका के लंबित रहने का सत्र अदालत में चल रही भंडारी की जमानत याचिका पर सुनवाई पर कोई असर नहीं पड़ेगा. 

राज्य चयन आयोग यूपीएससी से क्यों नहीं सीखते?

भंडारी और फायर अफसर राजेंद्र पाटिल तथा एक अन्य व्यक्ति उत्कर्ष पांडे को पिछले महीने गिरफ्तार किया गया था.  पांडे मोजो बिस्त्रो और वन एबव पब को हुक्कों की आपूर्ति करता था. तीनों फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं. उच्च न्यायालय में अपनी याचिका में भंडारी ने कहा कि गैर इरादतन हत्या का गंभीर आरोप उस पर लागू नहीं होते. यह अधिक से अधिक लापरवाही का मामला है जो जमानती है. 



मध्य मुंबई में कमला हिल्स स्थित मोजो बिस्त्रो और वन एबव में 29 दिसंबर को आग लग गई थी. उस घटना में 14 लोगों की मौत हो गई थी जबकि कई अन्य घायल हो गए थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com