कर्ज माफी किसानों की समस्या का अंतिम समाधान नहीं : सीएम देवेंद्र फडणवीस

मुख्यमंत्री ने दी सफाई - राज्य में कर्ज माफी की वजह से नहीं लटकेंगी विकास परियोजनाएं, महाराष्ट्र में कई इंफ्रा प्रोजेक्टों के लिए पैसा दे रही है केंद्र सरकार

कर्ज माफी किसानों की समस्या का अंतिम समाधान नहीं : सीएम देवेंद्र फडणवीस

मुंबई में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को किसानों ने सम्मानित किया.

खास बातें

  • किसानों ने कर्जमाफी का ऐलान करने पर फडणवीस को सम्मानित किया
  • कर्ज़ माफ़ी के ऐलान पर कई किसान संगठन नाराज, आंदोलन करेंगे
  • सीएम ने कहा- किसान को हर बार आंदोलन करने की जरूरत नहीं
मुंबई:

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कर्जमाफी को किसानों की समस्याओं का आखिरी समाधान मानने से इनकार किया है. उनका कहना है कि इससे अंतिम हल नहीं निकलने वाला. मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा है कि आसमां ही टूट पड़ा है, लेकिन हम उसे जोड़कर रहेंगे.

मंगलवार को मुंबई में किसानों ने कर्जमाफी के ऐलान के बाद मुख्यमंत्री फडणवीस को सम्मानित किया गया. इस मौके पर अपने भाषण में उन्होंने उक्त बात कही.

हालांकि कर्ज माफी के परिणामों को लेकर उन्हें सफाई भी देनी पड़ी. फडणवीस का दावा है कि कर्ज माफी की वजह से विकास परियोजनाएं नहीं लटकेंगी. उन्होंने कहा कि मीडिया लिख रहा है कि कर्ज़ माफ़ी से राज्य के विकास कार्य खटाई में पड़ेंगे. लेकिन यह चिंता का विषय नहीं है. केंद्र कई इंफ्रा प्रोजेक्टों को पैसा दे रहा है. कर्ज़ माफ़ी से पहले महाराष्ट्र में चार हजार करोड़ का फिस्कल डेफिसिट था. ऐसे में हमारा नए प्रोजेक्टों के लिए कर्ज लेना तय ही था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मुख्यमंत्री ने खुलासा किया कि राज्य के वित्त विभाग ने सरकार से कहा था कि राज्य सरकार 15 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा बड़ी कर्ज़ माफ़ी न दे. लेकिन हमने नहीं माना. हमारी कोशिश किसान को मदद करने की है. हमने कहा कि पैसा लाना हमारी जिम्मेदारी है. हम ले आएंगे.

बीजेपी सरकार के कर्ज़ माफ़ी के ऐलान पर किसान संगठन नाराज़ हैं. उन्होंने 26 जुलाई से दोबारा आंदोलन छेड़ने का ऐलान किया है. इस पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा है कि किसान को हर बार आंदोलन की जरूरत नहीं. वे सरकार से बात करें. बातचीत के लिए हम सदा तैयार हैं.