...यहां के बीजेपी पार्षदों ने कोरोना राहत कोष में योगदान देने से किया इंकार

भाजपा पार्षदों का कहना है कि महाराष्ट्र के ठाणे शहर में नगर निकाय के मामलों में पारदर्शिता नहीं है.

...यहां के बीजेपी पार्षदों ने कोरोना राहत कोष में योगदान देने से किया इंकार

ठाणे के भाजपा पार्षद कोविड-19 कोष में योगदान देने से पीछे हट गए हैं (प्रतीकात्मक तस्वीर).

मुंबई:

ठाणे महानगरपालिका (टीएमसी) के भाजपा पार्षदों ने कोविड-19 राहत कोष में योगदान देने से इनकार किया है. उनका कहना है कि महाराष्ट्र के ठाणे शहर में नगर निकाय के मामलों में पारदर्शिता नहीं है. महापौर नरेश म्हस्के की अपील के बाद अन्य दलों के पार्षदों ने कोष में पांच लाख रुपये का योगदान दिया है. महापौर को लिखे पत्र में भाजपा नेता संजय वाघुले ने आरोप लगाया है कि महानगरपालिका की कोविड-19 संबंधी राहत गतिविधियों में कोई पारदर्शिता नहीं है इसलिए पार्टी के पार्षद टीएमसी के कोविड-19 कोष में कोई योगदान नहीं देंगे.

उन्होंने दावा किया कि पालक मंत्री एकनाथ शिंदे की तरफ से 1,000 बेड वाले कोविड-19 उपचार केंद्र पर चर्चा के लिए बुलाई गई बैठक में भाजपा पार्षदों को नहीं बुलाया गया था. इस बीच, महापौर ने लिखित में कहा कि भाजपा ने कोविड-19 के लिए राहत कोष बनाने के विचार को समर्थन दिया था और अब वह इससे पीछे हट रही है. टीएमसी के 131 पार्षदों के सदन में भाजपा के 23 पार्षद हैं. 

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की चेन नहीं तोड़ पाए: उद्धव ठाकरे



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com