NDTV Khabar

महाराष्ट्र : मंत्री पर लगे आरोपों की होगी जांच, सीएम फडणवीस ने दिया आश्वासन

गृह निर्माण मंत्री प्रकाश मेहता पर मुंबई के एमपी मिल कम्पाउंड में एफएसआई घोटाले का आरोप

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र : मंत्री पर लगे आरोपों की होगी जांच, सीएम फडणवीस ने दिया आश्वासन

सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मंत्री प्रकाश मेहता पर लगे आरोपों की जांच कराने का आश्वासन दिया है.

खास बातें

  1. मेहता पर नियम विरुद्ध निर्माण की अनुमति देने का आरोप
  2. विपक्ष ने कहा - डेवलपर को फायदा पहुंचाने की कोशिश
  3. विपक्ष सिर्फ जांच के आश्वासन से संतुष्ट नहीं, इस्तीफे की मांग
मुंबई: महाराष्ट्र के गृहनिर्माण मंत्री प्रकाश मेहता पर लगे आरोपों की जांच की जाएगी. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आज सदन में जांच कराने का आश्वासन दिया. मेहता पर मुंबई के एमपी मिल कम्पाउंड में एफएसआई घोटाले का आरोप है.

मंत्री प्रकाश मेहता पर एसआरए में 225 वर्ग फुट का घर बनाने के बाद उसी को आधार बताकर नए नियम में 269 वर्ग फुट के हिसाब से 44 वर्गफुट अधिक क्षेत्र में निर्माण की अनुमति देने में अनियमितता बरतने का आरोप है.

विपक्ष ने आरोप लगाया है कि गृह निर्माण सचिव ने ऐसा नहीं किया जा सकता, इसके लिए तीन कारण गिनाए थे. इसके बाद भी गृह निर्माण मंत्री ने खुद उस फाइल पर यह लिखकर कि मुख्यमंत्री से बात हो गई है, उसे बढ़ाया, जो गलत है. उन्होंने डेवलपर को फायदा पहुंचाने की कोशिश है. विपक्ष ने मेहता पर 400 से 500 करोड़ के घोटाले का आरोप लगाया है.

यह भी पढ़ें - महाराष्ट्र सदन घोटाले में एनसीपी नेता छगन भुजबल के खिलाफ एफआईआर

इसका जवाब देते हुए प्रकाश मेहता ने कहा कि 21 मार्च को हम मुख्यमंत्री से चर्चा करने गए थे. तब मुझे लगा कि यह फाइल भी बंडल में होगी. लेकिन 22 मार्च  को गृह निर्माण सचिव ने बताया कि कल के बंडलों में यह फाइल नहीं थी. मेहता ने कहा कि मुख्यमंत्री जो जांच चाहें करा सकते हैं. उसका सामना करने को तैयार हूं. इसके बाद मुख्यमंत्री ने जांच का अश्वासन दिया.

लेकिन विपक्ष सिर्फ जांच के आश्वासन से संतुष्ट नहीं है. वह चाहता है कि जिस प्रकार एकनाथ खडसे का इस्तीफा लिया गया वैसे ही प्रकाश मेहता का भी इस्तीफा लेकर जांच करनी चहिए.

टिप्पणियां
VIDEO : महाराष्ट्र में हुआ था सिंचाई घोटाला

इसके पहले मुख्यमंत्री ने कहा था कि मामला मेरे सामने आने के बाद ही मैंने उस प्रस्ताव को रद्द कर दिया था, इसलिए कोई स्कैम नहीं हुआ. लेकिन विपक्ष अपने आरोपों पर अड़ा है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement