मुंबई : तीन महीने में पहली बार 24 घंटे में सबसे कम COVID-19 मामले आए सामने

देश में सबसे ज्यादा कोरोनावायरस के मामले से जूझ रहे राज्य महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में सोमवार को पिछले 100 दिनों के सबसे कम केस रिकॉर्ड किए गए हैं. 27 जुलाई को मुंबई में 100 दिनों बाद संक्रमित मरीजों की संख्या इतनी कम आई है.

मुंबई : तीन महीने में पहली बार 24 घंटे में सबसे कम COVID-19 मामले आए सामने

सोमवार को 9,000 सैंपलों की टेस्टिंग में 700 केस निकले पॉजिटिव. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • मुंबई में कोरोना की स्थिति सुधरी
  • 100 दिनों में सबसे कम केस दर्ज
  • 9,000 सैंपलों की टेस्टिंग में 700 केस पॉजिटिव
मुंबई:

Maharashtra Coronavirus Cases: देश में सबसे ज्यादा कोरोनावायरस के मामले से जूझ रहे राज्य महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई (Mumbai Coronavirus) में सोमवार को पिछले 100 दिनों के सबसे कम केस रिकॉर्ड किए गए हैं. सोमवार को मुंबई में (Mumbai Covid-19 new cases) 100 दिनों बाद संक्रमित मरीजों की संख्या इतनी कम आई है. वहीं, एक दिन के भीतर राज्य में अब तक की सबसे ज्यादा- लगभग 9,000- सैंपल टेस्टिंग भी हुई है. 27 जुलाई को मुंबई में 8,776 टेस्ट हुए हैं, जिनमें से लगभग 700 केस पॉजिटिव निकले हैं, ये पिछले 100 दिनों का सबसे कम आंकड़ा है.

मुंबई में रविवार को हुए सैंपल टेस्ट से सोमवार को 1,033 मामले सामने आए थे. अब शहर में संक्रमण के मामले बढ़ने में 68 दिन लग रहे हैं, वहीं रिकवरी रेट 73 प्रतिशत पर चल रहा है. मुंबई में 20 जुलाई से 26 जुलाई तक कोरोनावायरस की कुल ग्रोथ रेट 1.03 प्रतिशत रही है. 

यह भी पढ़ें: ठाकरे ने एकीकृत कोविड-19 उपचार प्रोटोकॉल तैयार करने के निर्देश दिए

सोमवार को पूरे महाराष्ट्र में कोविड संक्रमण के 7,924 केस सामने आए हैं, वहीं 227 लोगों की मौत हुई है. वहीं, मुंबई में 1,033 मामले सामने आए थे, वहीं 39 लोगों की मौत हुई थी. मुंबई में अभी तक यह वायरस 6,132 लोगों की जान ले चुका है. मुंबई में अब तक वायरस के कुल 1,10,182 केस हैं, इनमें से 21,812 केस एक्टिव हैं. इसके मुकाबले में ठाणे में कुल 34,471 एक्टिव केस और पुणे में 48,672 केस हैं.

मुंबई महामारी के शुरुआती तीन महीनों में देश का सबसे ज्यादा प्रभावित शहर रहा है. यहां पर अब धीरे-धीरे पॉजिटिव मामलों की संख्या कम हो रही है. हालांकि, प्रशासन अभी भी अलर्ट पर है. अथॉरिटीज़ को संक्रमित मामलों की दूसरी लहर आने का डर है, वहीं कोविड की वैक्सीन आने में भी देरी है. खतरा इसलिए भी है क्योंकि मुंबई के मॉनसून की हालत सभी जानते हैं, इसी बीच शहर के आस-पास के इलाकों में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं. इसलिए शहर में छूट बढ़ाने के साथ-साथ प्रशासन अलर्ट भी है.

यह भी पढ़ें: एक समय पर कोरोना हॉटस्पॉट था मुंबई का धारावी, इस तरह पाया वायरस पर काबू

मुंबई में ही एशिया का सबसे बड़ा स्लम, धारावी की झुग्गी-बस्ती है. धारावी मुंबई का हॉटस्पॉट रहा है. लेकिन यहां भी स्थिति में बहुत सुधार आया है. यहां पर फिलहाल कुल 98 एक्टिव केस हैं, वहीं सोमवार को यहां महज़ नौ पॉजिटिव मरीज़ सामने आए. धारावी में अब तक कुल मरीज़ों की संख्या 2,540 है.

Video: मुंबई के धारावी में आज से प्लाज्मा डोनेशन कैंप

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com