महाराष्ट्र : कोर्ट के काम पर लौटने के आदेश के बावजूद डॉक्टरों ने खत्म नहीं किया आंदोलन

महाराष्ट्र : कोर्ट के काम पर लौटने के आदेश के बावजूद डॉक्टरों ने खत्म नहीं किया आंदोलन

महाराष्ट्र में चिकित्सकों पर हमलों के विरोध में रेजीडेंट डॉक्टरों का आंदोलन जारी है.

मुंबई:

महाराष्ट्र में पिछले हफ्ते भर में डॉक्टरों पर हुए कई हमलों के खिलाफ पूरे प्रदेश के रेजीडेंट डॉक्टर सामूहिक अवकाश पर हैं. अवकाश के दूसरे दिन बॉम्बे हाई कोर्ट ने डॉक्टरों को काम पर वापस जाने का आदेश दिया.डॉक्टरों पर लगातार हो रहे हमलों के विरोध में सामूहिक अवकाश पर गए महाराष्ट्र के 4500 रेजीडेंट डॉक्टर दूसरे दिन बॉम्बे हाई कोर्ट की फटकार के बाद भी डटे रहे.

कोर्ट ने मंगलवार को डॉक्टरों को जल्द से जल्द काम पर जाने का आदेश दिया और कहा कि अगर डॉक्टर काम पर नहीं गए तो इसे कोर्ट की अवमानना माना जाएगा. कोर्ट ने यह आदेश इस सामूहिक अवकाश के खिलाफ दायर हुई जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए दिया.

कोर्ट के सामने अपनी बात रखते हुए महाराष्ट्र एसोसिएशन ऑफ रेजीडेंट डॉक्टर्स ने कहा कि यह कोई हड़ताल नहीं है. यह डॉक्टरों का व्यक्तिगत फैसला है. डॉक्टरों ने साफ किया कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होंगी वे काम पर वापस नहीं जाएंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वहीं डॉक्टरों के ड्यूटी पर न होने से मरीज कल की ही तरह परेशान दिखे. जनहित याचिका पर अगली सुनवाई बुधवार को होगी.

कोर्ट ने साफ कहा है कि अगर डॉक्टर काम पर वापस नहीं गए तो इसे कोर्ट की अवमानना माना जाएगा. लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि वे इस सामूहिक अवकाश को तब तक जारी रखेंगे जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होतीं. इस सामूहिक अवकाश को दो दिन हो चुके हैं और स्थिति वैसी की वैसी है.