मौसम का 'गलत पूर्वानुमान' बताने पर महाराष्ट्र के किसानों ने मौसम विभाग के खिलाफ पुलिस में दर्ज कराई शिकायत

शिकायतकर्ता जी. थावरे ने कहा, ‘किसानों ने आईएमडी के पूर्वानुमान के आधार पर बुआई की. लेकिन शुरुआती बारिश के बाद फिर बारिश नहीं हुई और बुआई खटाई में पड़ गई.

मौसम का 'गलत पूर्वानुमान' बताने पर महाराष्ट्र के किसानों ने मौसम विभाग के खिलाफ पुलिस में दर्ज कराई शिकायत

प्रतीकात्मक तस्वीर

मुंबई:

महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र के एक गांव के किसानों ने भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाए कि बीज और कीटनाशक निर्माता कंपनियों की मिलीभगत से उसने मॉनसून के बारे में गलत पूर्वानुमान जताया.

दिल्ली-एनसीआर समेत देश के कई क्षेत्रों सोमवार को भारी बारिश की संभावना

परभनी ग्रामीण थाने में मंगलवार को दर्ज कराई गई शिकायत में बताया गया कि पुणे और मुम्बई में विभाग के अधिकारियों ने कंपनियों के साथ ‘मिलीभगत’ की और किसानों को लाखों रुपये का नुकसान पहुंचाया जिन्होंने पूर्वानुमान के आधार पर खेतों में बुआई की. स्वाभिमानी शेतकारी संगठन के मराठवाड़ा क्षेत्र के अध्यक्ष मानिक कदम ने शिकायत दर्ज कराई.

कदम ने कहा कि भादंसं की धारा 420 के तहत आईएमडी निदेशक के खिलाफ ठगी के मामले दर्ज किए गए. पिछले वर्ष जून में बीड जिले के एक किसान ने आईएमडी अधिकारियों के खिलाफ पुलिस में इसी तरह के मामले दर्ज कराए थे. उन्होंने कहा कि आईएमडी अधिकारियों ने किसानों को यह कहते हुए गुमराह किया कि खरीफ मौसम के दौरान काफी बारिश होगी. 

Weather Report: उत्तर प्रदेश और बिहार में अगले 24 घंटों में भारी बारिश का अनुमान, जानें अपने राज्य का हाल

शिकायतकर्ता जी. थावरे ने कहा, ‘किसानों ने आईएमडी के पूर्वानुमान के आधार पर बुआई की. लेकिन शुरुआती बारिश के बाद फिर बारिश नहीं हुई और बुआई खटाई में पड़ गई.’ बयान के लिए आईएमडी का कोई अधिकारी उपलब्ध नहीं हुआ. पिछले साल सितंबर में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बरसात होने की झूठी भविष्यवाणी करने के लिए आईएमडी के खिलाफ केंद्रीय पर्यावरण मंत्री को एक पत्र लिखा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: उत्तर भारत में बारिश का कहर, मेरठ में मकान ढहने से 2 बच्चों की मौत

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)