महाराष्ट्र सरकार का विभागों को आदेश- निजी से हटाकर सरकारी बैंकों में खोलें अकाउंट

महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Govt) ने रिजर्व बैंक (RBI) की अपील के बावजूद राज्य सरकार के सभी विभागों को अपने खाते निजी बैंकों से हटाकर सरकारी बैंकों में खोलने का शुक्रवार को निर्देश दिया.

महाराष्ट्र सरकार का विभागों को आदेश- निजी से हटाकर सरकारी बैंकों में खोलें अकाउंट

महाराष्ट्र सरकार ने सभी विभागों को यह आदेश दिया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • RBI की अपील के बावजूद महाराष्ट्र सरकार का आदेश
  • निजी बैंकों से हटाकर सरकारी बैंकों में खोले अकाउंट
  • महाराष्ट्र सरकार ने सभी विभागों को जारी किया परिपत्र
मुंबई:

महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Govt) ने रिजर्व बैंक (RBI) की अपील के बावजूद राज्य सरकार के सभी विभागों को अपने खाते निजी बैंकों से हटाकर सरकारी बैंकों में खोलने का शुक्रवार को निर्देश दिया. महाराष्ट्र सरकार ने इस बाबत शुक्रवार को सभी विभागों को एक परिपत्र जारी किया. रिजर्व बैंक ने कुछ राज्यों द्वारा निजी बैंकों में खाते बंद कर सरकारी बैंकों में खोलने की खबरों को लेकर बृहस्पतिवार को सभी राज्यों को पत्र लिखकर ऐसा नहीं करने की अपील की थी. महाराष्ट्र सरकार के वित्त विभाग ने परिपत्र में कहा, 'सभी सरकारी कार्यालयों, सरकारी उपक्रमों और निगमों को यह सुनिश्चित करने की सलाह दी जाती है कि बैंकिंग से संबंधी उनके सारे क्रिया-कलाप सिर्फ सरकारी बैंकों के साथ ही हों.'

परिपत्र में कहा गया कि वेतन व भत्ता समेत सभी सरकारी योजनाओं का पैसा रखने के लिए निजी या सहकारी बैंकों में खोले गए सभी खाते एक अप्रैल तक बंद करा दिए जाने चाहिए. सरकार ने 11 सरकारी बैंकों की सूची के साथ अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि अप्रैल से कर्मचारियों के वेतन और भत्ते सिर्फ सरकारी बैंकों से दिए जाएं.

CM उद्धव ठाकरे अयोध्या गए तो BJP ने की आलोचना, अब शिवसेना ने दिया जवाब

सरकार ने सभी पेंशनभोगियों को अपने खाते सरकारी बैंकों में हस्तांतरित करने को भी कहा है. सरकार ने इसके लिए उन 13 बैंकों की सूची भी जारी की, जिनके साथ राज्य सरकार का कारोबार है. राज्य सरकार ने सभी निगमों और उपक्रमों से भी यह सुनिश्चित करने को कहा है कि उनके निवेश सिर्फ सरकारी बैंकों में जमा रहें.

VIDEO: बीजेपी का साथ छोड़ा है, हिंदुत्व का नहीं : CM उद्धव ठाकरे



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com