NDTV Khabar

महाराष्ट्र : शिवसेना ने अपनी ही सरकार के खिलाफ बजाए ढोल, किसानों की कर्जमाफी का हिसाब मांगा

एनसीपी नेता अजित पवार ने उड़ाया मजाक, कहा - शिवसेना सत्ता में रहते हुए जो भूमिका निभा रही है वह किसी दोमुंहे केंचुए जैसी

954 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र : शिवसेना ने अपनी ही सरकार के खिलाफ बजाए ढोल, किसानों की कर्जमाफी का हिसाब मांगा

महाराष्ट्र में अपनी ही सरकार के खिलाफ शिवसेना ने ढोल बजाओ आंदोलन किया.

खास बातें

  1. कर्जमाफी पर अमल की स्थिति जानने के लिए शिवसैनिकों का आंदोलन
  2. राज्य भर के जिला बैंकों के बाहर ढोल बजाओ आंदोलन किया गया
  3. कर्जमाफी का फैसला लेने वाली कमेटी में शिवसेना के मंत्री भी सदस्य
मुंबई: महाराष्ट्र की सरकार में शामिल शिवसेना ने सोमवार को राज्य भर के जिला बैंकों के बाहर ढोल बजाओ आंदोलन किया. कार्यकर्ताओं को इस आंदोलन के आदेश पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने दिए थे. राज्य सरकार ने 24 जून को ऐलान किया था कि सरकार 34 हजार किसानों की कर्जमाफी कर रही है. इस फैसले के तहत किसानों का डेढ़ लाख रुपये का कर्ज माफ होने जा रहा है.

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्यभर के छोटे किसानों का कर्ज माफ करने का ऐलान किया है. इस ऐलान पर कितना अमल हुआ है, यह जानने के लिए शिवसैनिकों ने यह आंदोलन किया. आंदोलन में शिवसेना के सांसद और स्थानीय नेता शामिल हुए. कर्जमाफी का लाभ किसे मिला और अब तक कितनों को मिला, इसका हिसाब शिवसेना ने मांगा है.

गौरतलब है कि कर्जमाफी का फैसला लेने वाली कमेटी में शिवसेना के मंत्री भी सदस्य हैं. यह कमेटी कर्जमाफी से जुड़े फैसले से पहले कई बैठकें कर चुकी है और फैसले के बाद भी कमेटी सक्रिय है. ऐसे में विपक्ष ने शिवसेना के आंदोलन का मजाक उड़ाया है. एनसीपी नेता अजित पवार ने शिवसेना को केंचुआ कहा है. अजित पवार का कहना है कि पार्टी सत्ता में रहते हुए जो भूमिका निभा रही है वह किसी दोमुंहे केंचुए जैसी है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement