NDTV Khabar

मराठा क्रांति मोर्चा ने आत्महत्या करने वालों के परिजनों को दिए 1-1 लाख रुपये, राज्य सरकार को दी यह चेतावनी...

मराठा आरक्षण की मांग कर रहे मराठा समाज के लोगों ने सोमवार को मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में आरक्षण के लिए आत्महत्या करने वाले 37 लोगों के परिजनों की आर्थिक सहायता की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मराठा क्रांति मोर्चा ने आत्महत्या करने वालों के परिजनों को दिए 1-1 लाख रुपये, राज्य सरकार को दी यह चेतावनी...

फाइल फोटो

खास बातें

  1. मराठा क्रांति मोर्चा ने आत्महत्या करने वालों के परिजनों की दी आर्थिक मदद
  2. एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि दी
  3. आरक्षण लागू ना होने पर 1 दिसंबर से आंदोलन की चेतावनी दी
मुंबई:

मराठा आरक्षण की मांग कर रहे मराठा समाज के लोगों ने सोमवार को मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में आरक्षण के लिए आत्महत्या करने वाले 37 लोगों के परिजनों की आर्थिक सहायता की. साथी ही 15 नवम्बर तक आरक्षण लागू नहीं होने पर एक दिसंबर से राज्य भर में दोबारा प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी. मुंबई के यशवंतराव चव्हाण ऑडिटोरियम में मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने मराठा आरक्षण के लिए आत्महत्या करने वालों के परिजनों को एक-एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की. मौके पर मौजूद लोगों ने जहां मराठा आरक्षण को जल्द से जल्द लागू करने की मांग की, तो वहीं राज्य सरकार की ओर से आरक्षण लागू नहीं करने और मृतकों के घर वालों को अबतक आर्थिक सहायता नहीं मिलने के कारण ये लोग नाराज भी दिखे. 

यह भी पढ़ें:  कांग्रेस का फडणवीस सरकार पर हमला, मराठा आरक्षण आंदोलन पर राजनीति करने का लगाया आरोप


मराठा आरक्षण की मांग करते हुए मराठा समाज के लोग पिछले डेढ़ साल से राज्य के अलग अलग जगहों पर मूक प्रदर्शन करते आए है, लेकिन इसी साल जुलाई में मराठा आरक्षण की मांग करते हुए औरंगाबाद में काकासाहेब शिंदे ने नदी में कूदकर आत्महत्या की, जिसके बाद मराठा आंदोलन हिंसक हो गया था. इस संबंध में मराठा क्रांति मोर्चा के समन्वयक संजय सावंत ने कहा कि राज्य सरकार ने जहां मराठा समाज को आश्वासन दिया है कि 15 नवम्बर तक सरकार मराठा आरक्षण को लागू कर देगी, लेकिन अगर यह नहीं हुआ तो एक दिसंबर से फिर से आंदोलन किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें: केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी बोले, आरक्षण रोजगार की गारंटी नहीं, क्योंकि नौकरियां नहीं हैं

टिप्पणियां

दरअसल, राज्य में मराठा समाज के कुल 33 फीसदी वोटर मौजूद हैं और राज्य सरकार हो या फिर विपक्ष, कोई भी मराठा समाज को नाराज़ नहीं करना चाहता है. इसलिए राज्य सरकार भी मराठा समाज से जुड़े सवालों पर जवाब देने से बचती नज़र आ रही है. 

VIDEO: महाराष्ट्र : अब मुस्लिम समाज आरक्षण के लिए लामबंद



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement