NDTV Khabar

कमला मिल्‍स हादसा: 8 लोगों की जिंदगी बचाने वाले कांस्‍टेबल ने कहा, 14 लोगों की जान जाने का दुख

मुंबई के कमला मिल्स कॉम्प्लेक्स गुरुवार देर रात रूफटॉप पर स्थित एक पब में आग लगने से 14 लोगों की मौत हो गई. वहीं मुबंई पुलिस के एक कांस्‍टेबल ने आठ लोगों की जिंदगी बचाई और 200 लोगों को बाहर निकाला. वहीं एक फोटोग्राफर ने कांस्‍टेबल सुदर्शन शिवाजी शिंदे एक फोटो खींची जो इन दिनों वायरल हो गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कमला मिल्‍स हादसा: 8 लोगों की जिंदगी बचाने वाले कांस्‍टेबल ने कहा, 14 लोगों की जान जाने का दुख

कमला मिल्‍स हादसे में आठ 8 लोगों की जिंदगी बचाने वाले कांस्‍टेबल का फोटो हुआ वायरल

मुंबई:

मुंबई के कमला मिल्स कॉम्प्लेक्स गुरुवार देर रात रूफटॉप पर स्थित एक पब में आग लगने से 14 लोगों की मौत हो गई. वहीं मुबंई पुलिस के एक कांस्‍टेबल ने आठ लोगों की जिंदगी बचाई और 200 लोगों को बाहर निकाला. वहीं एक फोटोग्राफर ने कांस्‍टेबल सुदर्शन शिवाजी शिंदे एक फोटो खींची जो इन दिनों वायरल हो गई है. इस फोटो में पुलिस कांस्‍टेबल अपने कंधों में एक महिला को आग की लपटों से निकालकर लेकर आ रहा है. मुंबई पुलिस आयुक्त दत्तात्रेय पदललगीकर और महापौर विश्वनाथ महादेववार ने सोमवार कांस्‍टेबल के प्रयासों की प्रशंसा की. 

मुंबई पब हादसे की सीबीआई जांच की मांग को लेकर याचिका दाखिल

कांस्‍टेबल सुदर्शन शिवाजी शिंदे ने कहा कि यह अच्‍छी बात है कि साल के पहले दिन मेरी प्रशंसा की गई लेकिन मैं दुखी हूं कि 14 लोगों की जान नहीं बचाई जा सकी. कमला मिल्‍स के रूफ टॉप पर स्थि‍त 1 अबव रेस्‍टोरेंट में पार्टी के दौरान आग लगी और देखते ही देखते मोजो बिस्‍तरो समेत कई ऑफिस और दुकानों को अपनी चपेट में ले लिया. 


मुंबई कमला मिल्स कंपाउंड अग्निकांड : हेमा मालिनी ने बढ़ती आबादी पर फोड़ा ठीकरा और कहा यह...

इस हादसे में अपना 29वां जन्‍मदिन मानने पहुंची खुशबू मेहता समेत 11 महिलओं की मौत हुई थी. इस हादसे में मरने वालों की उम्र 20 से 30 साल थी. डॉक्‍टरों का कहना था कि मरने वाले सभी लोगों की मौत दम घुटने के चलते ही हुई है. 

रात करीब 12.30 कांस्‍टेबल शिंदे को वायरलेस पर आग लगने की सूचना मिली. वह अपने साथियों के साथ घटनास्‍थल पर पहुंचे. उन्‍होंने वहां कई एंबुलेंस, फायर की गाड़ियां और पुलिस की कार देखी. लोग मदद के लिए चिल्‍ला रहे थे. कमला मिल्‍स की छत पर आग बहुत भयंकर थी जिसके चलते काफी दूर तक कुछ दिखाई नहीं दे रहा था. शिंदे ने एनडीटीवी को बताया कि उसने फायरकर्मियों के साथ सीढ़ियों की मदद से कमला मिल्‍स की छत पर जाने का फैसला लिया. 

मुंबई हादसा : अमेरिका से छुट्टियां मनाने आए थे दो भाई, बुआ को बचाने में गई तीनों की जान

टिप्पणियां

उन्‍होंने कहा कि जब मैं ऊपर पहुंचा तो सब जगह धुंआ था और कुछ दिखाई नहीं दे रहा था. इतना ही नहीं सांस लेना और आंखें खुला रखना एक चुनौती थी. इसके फायर की टीम ने एक्जिट वाले दरवाजे को तोड़ा ताकि आग पर काबू पाया जा सके. वहां हमने वॉशरूम के पास कुछ महिलाएं देखी और इसके बाद हमने एक-एककर उन महिलाओं को नीचे उतारा. उन्‍होंने बताया कि उस वक्‍त उन महिलाओं को वहां से ले जाने के लिए उनके पास कोई स्‍ट्रेचर नहीं था इसलिए उन्‍होंने उन महिलाओं को कंधों पर लादकर वहां से बाहर निकाला. 

VIDEO: कमला मिल्स हादसे में '1Above' पब के 2 मैनेजर गिरफ्तार

वहीं इस मामले में 18 वर्षीय एक छात्र ने बंबई हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाकर मध्य मुंबई में कमला मिल परिसर में एक पब में गत 29 दिसंबर को लगी भीषण आग की घटना की सीबीआई जांच कराने का निर्देश देने की मांग की है. ब्रिटेन में पढ़ रहे गर्व सूद ने अदालत से यह भी अनुरोध किया है कि कमला मिल्स के मालिकों के खिलाफ भी आईपीसी की धारा 304 के तहत आरोप लगाये जाएं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement