NDTV Khabar

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी मंच पर बेहोश होकर गिरे, अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कही यह बात

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी उस वक्त बेहोश होकर अचानक गिर पड़े, जब वह महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में शुक्रवार को विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी मंच पर बेहोश होकर गिरे, अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कही यह बात

दीक्षांत समारोह में शामिल होने गए थे नितिन गडकरी

मुंबई:

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी उस वक्त बेहोश होकर अचानक गिर पड़े, जब वह महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में शुक्रवार को विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे. इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि राहुरी में कृषि विश्वविद्यालय में दीक्षांत समारोह में राष्ट्रगान के दौरान गडकरी बेहोश होकर गिर पड़े. कार्यक्रम में महाराष्ट्र के राज्यपाल सी विद्यासागर राव भी मौजूद थे. उन्होंने गडकरी की उठने में मदद की. उसके बाद आनन-फानन में केंद्रीय मंत्री को उठाकर अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका इलाज हुआ और अब वह बेहतर हैं. 

अब नितिन गडकरी के निशाने पर RBI, उर्जित पटेल को लेकर किए गए सवाल पर कहा- अनुभव अच्छा नहीं


खुद नितिन गडकरी ने एक ट्वीट के जरीए तबीयत खराब होने की बात बताई है. उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से सूचना दी कि ब्लड शुगर कम होने की वजह से उनकी तबीयत थोड़ी सी खराब हो गई. हालांकि, डॉक्टर से चेकअप के बाद अब वह ठीक हैं. उन सभी का शुक्रिया जिन्होंने मेरे शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की है. 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के इस ट्वीट को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी शेयर किया है और उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की है. अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया- आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना...'  बता दें कि नितिन गडकरी केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री के साथ-साथ जहाज, जल संसाधन और गंगा मामलों के भी मंत्री हैं. 

वंशवाद की राजनीति पर नितिन गडकरी बोले- पहले पीएम, PM को जन्म देते थे, मगर हमने यह बदल दिया

टिप्पणियां

दरअसल, नितिन गडकरी ने साल 2011 में बैरियाट्रिक सर्जरी कराई थी. आमतौर पर इस सर्जरी को वेट लॉस सर्जरी के नाम से जाना जाता है, जिसे वजन घटाने के लिए किया जाता है. डॉक्‍टर इस सर्जरी की सलाह ऐसे मरीजों को देते हैं जिनका वजन अपेक्षाकृत बहुत ज्‍यादा होता है और इसके चलते उन्‍हें डायबिटीज, हायपरटेंशन और सोते समय सांस लेने में दिक्‍कत आती है. कई शोधों में भी यह बात सामने आ चुकी है कि इस सर्जरी से न सिर्फ मरीज का वजन घट जाता है बल्‍कि उसे मोटापे से जुड़ी कई बीमारियों से भी छुटकारा मिल जाता है. आपको बता दें कि फुटबॉल के महान खिलाड़ी माराडोना ने भी इस सर्जरी को कराया था.


VIDEO: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने माना, नौकरियों को लेकर है संकट


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement