NDTV Khabar

कीटनाशकों की वजह से 20 किसानों की मौत के मामले में जिला कृषि विकास अधिकारी निलंबित

लेकिन इस कार्रवाई पर भी सवाल उठ रहे हैं कि एक अधिकारी के निलंबन से क्या हो जाएगा जब तक सरकार जागरुकता नहीं फैलाएगी.

197 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कीटनाशकों की वजह से 20 किसानों की मौत के मामले में जिला कृषि विकास अधिकारी निलंबित

फाइल फोटो

मुंबई: महाराष्ट्र के यवतमालमें कीटनाशकों की वजह से 20 किसानों की मौत के मामले में जिला कृषि विकास अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है. लेकिन इस कार्रवाई पर भी सवाल उठ रहे हैं कि एक अधिकारी के निलंबन से क्या हो जाएगा जब तक सरकार जागरुकता नहीं फैलाएगी. गौरतलब है कि यवतमाल जिले में पिछले दो महीने में कीटनाशक से 20 खेतिहर मजदूर और किसानो की मौत हो चुकी है. जबकि कई कि आंखों पर बुरा असर पड़ा है इसके अलावा 800 किसानों का इलाज अभी अस्पताल में चल रहा है. महाराष्ट्र सरकार ने इसकी जांच के लिए उच्च स्तरीय गठित की थी. एसे मामलों की रोकथाम के लिए सरकार ने छिड़काव के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाले मास्क और दस्ताने देने और मृतक किसानों के परिजनों को 2- 2 लाख रुपये फौरी तौर पर मदद देने की भी घोषणा भी की थी.

महाराष्‍ट्र : यवतमाल में कर्ज में डूबे किसान पिता-पुत्र ने पेड़ से लटककर ख़ुदकुशी की

वहीं इसी घटना से नाराज एक शख्स ने महाराष्ट्र के एक मंत्री को निशाना बनाकर उसी तरह के कीटनाशक से उनपर छिड़काव करने की कोशिश भी कर चुका है. यह घटना तब घटी जब कृषि राज्य मंत्री सदाभाऊ खोत यवतमाल से 30 किलोमीटर दूर कलाम गांव का दौरा करने के लिए पहुंचे थे, जहां किसान इस 'साइलेंट हत्यारे' से जूझ रहे हैं.

वीडियो : कीटनाशक से हुई थी 20 किसानों की मौत
आरोपी किसान जिसकी पहचान सिकंदर शाह के रूप में हुई, भीड़ को चीरता हुआ आया और कुछ कीटनाशक को छिड़कने का प्रयास किया लेकिन मंत्री खुद को बचाते हुए वहां से भाग निकले. स्थानीय पुलिस ने तुंरत कार्रवाई करते हुए शाह को पकड़ लिया और बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement