'रात के 12 बज चुके हैं, हमारे पास महाराष्ट्र सरकार से कल की 125 ट्रेनों की डिटेल्स और पैसेंजर लिस्टें नहीं आई हैं'

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने लिखा, 'रात के 12 बज चुके हैं और 5 घंटे बाद भी हमारे पास महाराष्ट्र सरकार से कल की 125 ट्रेनों की डिटेल्स और पैसेंजर लिस्टें नहीं आयी हैं.'

'रात के 12 बज चुके हैं, हमारे पास महाराष्ट्र सरकार से कल की 125 ट्रेनों की डिटेल्स और पैसेंजर लिस्टें नहीं आई हैं'

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • स्पेशल ट्रेनों पर आमने-सामने केंद्र व महाराष्ट्र सरकार
  • रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक के बाद एक किए कई ट्वीट
  • रेल मंत्री ने महाराष्ट्र सरकार से मांगा था ट्रेनों का ब्योरा
नई दिल्ली:

महाराष्ट्र (Maharashtra Migrants) में प्रवासियों के लिए ट्रेनों की व्यवस्था करने पर केंद्र व राज्य सरकार आमने-सामने है. रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने रविवार को राज्य सरकार से कहा कि उन्हें प्रवासियों को वापस भेजने के लिए जितनी भी ट्रेनें चाहिए होंगी, उपलब्ध कराई जाएंगी. रेल मंत्री ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार से इससे संबंधित ब्योरा मांगा लेकिन कई घंटे बीत जाने के बाद भी राज्य सरकार की ओर से उन्हें कोई जवाब नहीं दिया गया. बीती रात 12 बजे इस मुद्दे पर अंतिम ट्वीट करते हुए रेल मंत्री ने लिखा, 'रात के 12 बज चुके हैं और 5 घंटे बाद भी हमारे पास महाराष्ट्र सरकार से कल की 125 ट्रेनों की डिटेल्स और पैसेंजर लिस्टें नहीं आयी हैं. मैंने अधिकारियों को आदेश दिया है फिर भी प्रतीक्षा करें और तैयारियां जारी रखें.'

इसके बाद किए ट्वीट में पीयूष गोयल लिखते हैं, 'मेरा अनुरोध है कि महाराष्ट्र सरकार अभी भी अगले एक घंटे में कितनी ट्रेन, कहां तक और पैसेंजर लिस्टें हमें भेज दें. हम प्रतीक्षा कर रहे हैं और पूरी रात काम कर कल की ट्रेनों की तैयारी करेंगे. कृपया पैसेंजर लिस्टें अगले एक घंटे में भेज दें.'

रात दो बजे एक बार फिर रेल मंत्री ट्वीट करते हैं, 'महाराष्ट्र की 125 ट्रेनों की लिस्ट कहां है? रात दो बजे तक, केवल 46 ट्रेनों की लिस्ट मिली है, जिसमें से 5 पश्चिम बंगाल और ओडिशा की हैं, जो चक्रवात अम्फान के कारण नहीं चल सकती हैं. हम 125 ट्रेनों के लिए तैयार होने के बावजूद आज के लिए केवल 41 ट्रेनों को अधिसूचित कर रहे हैं.'

बता दें कि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार देर शाम सबसे पहले ट्वीट करते हुए लिखा था, 'उद्धव जी, आशा है आप स्वस्थ है, आपके अच्छे स्वास्थ्य के लिए शुभेच्छा. कल हम महाराष्ट्र से 125 श्रमिक स्पेशल ट्रेन देने के लिए तैयार है. आपने बताया कि आपके पास श्रमिकों की लिस्ट तैयार है. इसलिए आपसे अनुरोध है कि सभी निर्धारित जानकारी जैसे, कहां से ट्रेन चलेगी, यात्रियों की ट्रेनों के हिसाब से सूची, उनका मेडिकल सर्टिफ़िकेट और कहां ट्रेन जानी है, यह सब सूचना अगले एक घंटे में मध्य रेलवे के महाप्रबंधक को पहुंचाने की कृपा करें, जिससे हम ट्रेनों की योजना समय पर कर सके.'

वह आगे लिखते हैं, 'उम्मीद है कि पहले की तरह ट्रेन स्टेशन पर आने के बाद, वापिस खाली ना जानी पड़े. आपको आश्वस्त करना चाहूंगा कि आपको जितनी ट्रेन चाहिए वो उपलब्ध होंगी.' एक अन्य में रेल मंत्री ने लिखा, 'TV के माध्यम से पता चला कि महाराष्ट्र सरकार ने 200 ट्रेनों की लिस्ट भारतीय रेल को देने का दावा किया है, पर कल चलने वाली एक भी ट्रेन के यात्रियों की लिस्ट GM मध्य रेल के पास फॉलोअप के बाद भी नहीं आई है. कृपया लिस्टें जल्दी देने की कृपा करें.'

पीयूष गोयल ने अगला ट्वीट किया, 'दुख की बात हैं कि 1.5 घंटे हो गए हैं पर महाराष्ट्र सरकार ने रेलवे के GM मध्य रेल को, कल की 125 ट्रेनों की निर्धारित जानकारी नहीं दी है. ट्रेन प्लान करने में समय लगता है और हम नहीं चाहते कि ट्रेनें स्टेशन पर आकर खाली खड़ी रहे, इसलिए पूरी जानकारी के बिना प्लान करना असंभव है. मैं आशा करता हूं कि महाराष्ट्र सरकार हमारे इन श्रमिकों के लाभ के लिए किए गए प्रयास में पूरा सहयोग करेगी.'


VIDEO: हॉट स्पॉट वाले इलाकों पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है : डॉ. रणदीप गुलेरिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com