NDTV Khabar

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आंध्रप्रदेश फाइबर ग्रिड परियोजना का किया उद्घाटन

राष्ट्रपति ने इस परियोजना का उद्घाटन गर्वनर ई. एस. एल नरसिम्हा, मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू, सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीश एन. वी. रामन्ना, विधानसभा के अध्यक्ष कोडेला शिवप्रसाद राव और राज्य के आईटी मंत्री नारा लोकेश की मौजूदगी में किया. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आंध्रप्रदेश फाइबर ग्रिड परियोजना का किया उद्घाटन

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. यह परियोजना साल 2019 तक पूरी होगी.
  2. सरकार का लक्ष्य फाइबर ग्रिड के तहत 30 लाख घरों को जोड़ने का है.
  3. फाइबर ग्रिड वीडियो कांफ्रेंसिंग और मूवी ऑन डिमांड जैसी सेवाएं देगा.
अमरावती:

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को आंध्रप्रदेश फाइबर ग्रिड परियोजना का उद्घाटन किया, जिसके तहत प्रत्येक घर को 149 रुपए प्रतिमाह की दर से इंटरनेट, टेलीविजन और टेलीफोन सेवाएं मुहैया कराई जाएगी. राष्ट्रपति ने इस परियोजना को राष्ट्र को समर्पित किया, जिसके तहत कम से कम 149 रुपए की दर से तीन सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी, जिसमें 5 जीबी डेटा 15 एमबीपीएस की गति से, 250 टेलीविजन चैनल और रेंटल-मुक्त टेलीफोन कनेक्शन शामिल हैं. आंध्र प्रदेश स्टेट फाइबरनेट लि. (एपीएसएफएल) इस परियोजना को लागू कर रही है. वहीं दो अन्य- 399 रुपए और 599 रुपए प्रतिमाह प्लान भी घरेलू ग्राहकों के लिए है. वहीं, संस्थाओं के लिए 999 रुपए में 50 जीबी डेटा 100 एमबीपीएस की गति से तथा 2,499 रुपए में 250 जीबी डेटा का प्लान उपलब्ध है. 

राष्ट्रपति ने इस परियोजना का उद्घाटन गर्वनर ई. एस. एल नरसिम्हा, मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू, सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीश एन. वी. रामन्ना, विधानसभा के अध्यक्ष कोडेला शिवप्रसाद राव और राज्य के आईटी मंत्री नारा लोकेश की मौजूदगी में किया. 


यह भी पढ़ें : समूची दुनिया भारत से वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति की आशा में, आयुर्वेद की भूमिका अहम : राष्ट्रपति

इस परियोजना की शुरुआत में एक लाख घरों को हाई-स्पीड इंटरनेट ग्रिड कनेक्शन दिया जाएगा. साथ ही कृष्णा और गुंटूर जिले के शत प्रतिशत घरों को यह कनेक्शन दिया जाएगा. अगले साल अप्रैल तक सरकार का लक्ष्य फाइबर ग्रिड के तहत 30 लाख घरों को जोड़ने का है. 

VIDEO : हरमनप्रीत कौर सहित 17 खिलाड़ी अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित​

टिप्पणियां

यह परियोजना साल 2019 तक पूरी होगी और इसके दायरे में एक करोड़ से ज्यादा घरों, 50 हजार से ज्यादा स्कूलों और शैक्षणिक संस्थानों, सभी सरकारी कार्यालयों, 5,000 से ज्यादा सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों और सभी पंचायत कार्यालयों को लाया जाएगा. यह फाइबर ग्रिड वीडियो कांफ्रेंसिंग और मूवी ऑन डिमांड जैसी सेवाएं भी प्रदान करेगी. इस ग्रिड में जिला नियंत्रण कक्ष, सभी सार्वजनिक सीसीटीवी, आंध्र प्रदेश स्टेट वाइस एरिया नेटवर्क को समाहित किया जाएगा.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement