NDTV Khabar

'नमो' के बाद 'महामित्र' पर लगा डेटा लीक का आरोप

केंद्र सरकार के बाद अब महाराष्ट्र सरकार पर भी डेटा लीक का आरोप लगा है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'नमो' के बाद 'महामित्र' पर लगा डेटा लीक का आरोप

महाराष्‍ट्र सरकार के महामित्र एप पर भी लगा डाटा चोरी का आरोप

खास बातें

  1. महाराष्ट्र सरकार पर भी डेटा लीक का आरोप लगा है.
  2. पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने ये मुद्दा उठाया है
  3. महाराष्ट्र सरकार के एप के आंकड़े कहीं और जाते हैं
मुंबई:

केंद्र सरकार के बाद अब महाराष्ट्र सरकार पर भी डेटा लीक का आरोप लगा है. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने ये मुद्दा उठाया और कहा कि महाराष्ट्र सरकार के ऐप के आंकड़े कहीं और जाते हैं.
 
सोशल मीडिया के जरिये सरकार का काम लोगों तक पहुंचाने के लिए बना सरकारी एप ' महामित्र ' भी अब डेटा लीक विवाद में फंस गया है. पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने महामित्र के जरिये डेटा चोरी का आरोप लगाया है.

कैंब्रिज एनालिटिका के व्हिसलब्लोअर का ब्रिटिश संसद में बयान, कंपनी ने कांग्रेस के लिए किया काम

टिप्पणियां

पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण का आरोप है कि सारी जानकरी एक निजी ट्रस्ट जिसका नाम अनुलोम है उसके पास जा रही है. अनुलोम ट्रस्ट क्या है अनुलोम ट्रस्ट 2 साल पहले शुरू हुआ था और शुरू होते हुए कहा था हम ये काम मुख्यमंत्री के आशीर्वाद से शुरू कर रहे हैं. कांग्रेस ने सवाल उठाया है कि जब सरकारी आईटी कंपनियां हैं तो महामित्र के डेटा निजी ट्रस्ट को क्यों दिए जा रहे हैं.
 
पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा है कि इसमें डाटा चोरी का इशू है, इसमें प्राइवेसी के इशू हैं. डाटा बेचने के इशू हैं. डाटा गलत हाथ मे देने का इशू है. देश के बाहर जाने का ईशु है. वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने डेटा लीक के आरोपों से इनकार किया है. अनुलोम ने डाटा एक्सेस से इनकार किया लेकिन ये जरूर माना है कि वो पिछले दो सालों से अपने ट्रस्ट के जरिये सरकार के कामों को लोगों तक पहुंचाने का काम कर रहा है.
 
रविशंकर प्रसाद का कांग्रेस पर हमला, कहा- कैम्ब्रिज एनालिटिका की सेवाएं लेने पर राहुल जवाब दें


डाटा लीक मतलब आपके सारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, उसमे दर्ज कॉन्टैक्ट, आप के लाइक, डिसलाइक, फ्रेंडस, आपका पता, आपका खान पान, रहन सहन. इन सब जानकरियों को मिलाकर साइकोलॉजिकल प्रोफाइल तैयार होता है. इसे कहते हैं साइकोलॉजिकल माइक्रो टार्गेटिंग. चिंता इस बात की है कि इसका इस्तेमाल चुनाव जिताने या हराने के लिए किया जा सकता है और सारा हंगामा इसलिए है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement