NDTV Khabar

नालासोपारा कांडः बमों को लड्डू, खुद को विष्णु - ऐसे कोड वर्ड इस्तेमाल करते थे वैभव राउत और उसके साथी

महाराष्ट्र एटीएस को जांच के दौरान पता चला कि विस्फोटकों के साथ गिरफ्तार हुए दक्षिणपंथी संगठनों के पदाधिकारी एक दूसरे से बातचीत करने के लिए ‘विष्णु’और ‘वामन’जैसे कोड नामों का इस्तेमाल करते थे.

6.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नालासोपारा कांडः बमों को लड्डू, खुद को विष्णु - ऐसे कोड वर्ड इस्तेमाल करते थे वैभव राउत और उसके साथी

सनातन संस्था का पदाधिकारी वैभव राउत (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. वैभव राउत और उसके साथी देवताओं के नाम का करते थे कोड वर्क इस्तेमाल
  2. नालासोपारा में विस्फोटको संग गिरफ्तार हुए थे दक्षिणपंथी एक्टिविस्ट
  3. एटीएस ने बताया-आरोपियों में से एक था दाभोलकर हत्याकांड में शामिल
नई दिल्ली: महाराष्ट्र के नालासोपारा में देसी बमों के साथ गिरफ्तार सनातन संस्था के पदाधिकारी कोड वर्ड में देवताओं के नाम का इस्तेमाल करते थे. ताकि उनके खतरनाक इरादे कोई भांप न सके. महाराष्ट्र एटीएस ने वैभव राउत के घर से 20 देसी बम और दो जिलेटिन स्टिक बरामद की थी. राउत के साथ दो अन्य आरोपी भी गिरफ्तार हुए थे. तीनों आरोपियों के पास से दस पिस्तौल, एक एयर गन, एक कट्टा और छह पिस्तौल मैग्जीन भी बरामद हुई थी.
 


महाराष्ट्र एटीएस को जांच के दौरान पता चला कि गिरफ्तार किए गये व्यक्ति एक दूसरे से बातचीत करने के लिए ‘विष्णु’और ‘वामन’जैसे कोड नामों का इस्तेमाल करते थे.एक अधिकारी ने बताया कि कलसकर का कोड नाम ‘विष्णु’,वैभव राउत का उपनाम ‘वामन’ और गोनधलेकर को ‘पांडेजी’के नाम से बुलाया जाता था. एटीएस सूत्रों के मुताबिक आरोपियों के घर से बरामद हार्ड डिस्क्स, मोबाइल फोन और सोशल मीडिया अकाउंट खंगालने के बाद ऐसे चौंकाने वाले कोर्ड वर्ड का खुलासा हुआ. 


सनातन संस्था से जुड़े वैभव राउत सहित तीन गिरफ्तार, छापे में 20 देसी बम बरामद

गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के दौरान पता चला कि वामन, विष्णु और लड्डू जैसे शब्द किस कोड के तहत इस्तेमाल होते हैं. एटीएस को पूछताछ के दौरान कालस्कर ने बताया कि उसने औरंगाबाद निवासी सचिन के साथ मिलकर दाभोलकर को गोली मारी. दाभोलकर हत्याकांड की जांच कर रही सीबीआई ने इसमें सनातन संस्था सदस्य वीरेंद्र तावड़े की साजिश को कालस्कर और सचिन द्वारा अंजाम तक पहुंचाने का दावा किया था.

बता दें कि विस्फोटकों और हथियार जब्त करने के सिलसिले में बीते 10 अगस्त को वैभव राउत, शरद कलसकर और सुधानवा गोनधलेकर को गिरफ्तार किया था.यह जानकारी एक अधिकारी ने दी.गिरफ्तार किए गए एक आरोपी ने एटीएस को बताया कि वह 20 अगस्त 2013 को तर्कवादी नरेन्द्र दाभोलकर पर गोलीबारी में सीधे तौर पर शामिल था. 

वीडियो-हिंदू गोवंश रक्षा समिति के वैभव राउत के घर से 10 पिस्तौल बरामद​

टिप्पणियां

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement