NDTV Khabar

महाराष्ट्र के दक्षिणपंथी नेता संभाजी भिड़े पर से दंगे के मामले वापस लिये गए, RTI में खुलासा

महाराष्ट्र सरकार ने राइट विंग लीडर और कोरेगांव भीमा हिंसा मामले में मुख्य संदिग्ध संभाजी भिड़े के खिलाफ कम से कम दंगे के 6 मामलों को वापस ले लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र के दक्षिणपंथी नेता संभाजी भिड़े पर से दंगे के मामले वापस लिये गए, RTI में खुलासा

आरटीआई एक्टिविस्ट शकील अहमद शेख ने महाराष्ट्र सरकार से जानकारी मांगी थी.

नई दिल्ली :

महाराष्ट्र सरकार ने राइट विंग लीडर और कोरेगांव भीमा हिंसा मामले में मुख्य संदिग्ध संभाजी भिड़े के खिलाफ कम से कम दंगे के 6 मामलों को वापस ले लिया है. यह खुलासा एक RTI में हुआ है. भिड़े की अगुवाई वाले शिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान संगठन के सैकड़ों कार्यकर्ताओं को दंगे के मामले में क्लीन चिट मिल गई है. जबकि दर्जनों मामलों में दंगे की धाराओं को हटा दिया गया है. इन मामलों में बीजेपी और शिवसेना के नेता व समर्थक शामिल रहे हैं. 

कोरेगांव हिंसा के आरोपी संभाजी भिडे़ के सम्मान में होगा महामोर्चा का आयोजन

हालांकि पुलिस ने अपनी सफाई में कहा है कि 85 वर्षीय संभाजी भिड़े और अन्य के खिलाफ कोरेगांव भीमा हिंसा के मामले में कोई चार्ज हटाया नहीं गया है. पुणे के एसपी संदीप पाटील ने समाचार एजेंसी ANI को बताया कि ''जांच जारी है''.  दूसरी तरफ, फिल्म जोधा अकबर की रिलीज के दौरान हुई हिंसा के मामले में भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) सदस्यों के खिलाफ छह में से तीन मामलों को वापस ले लिया गया है. आरटीआई में हुए खुलासे के मुताबिक महाराष्ट्र सरकार पिछले जून से अब तक कम से कम 6 सर्कुलर जारी कर चुकी है. जो संभाजी भिड़े, बीजेपी व शिवसेना नेता और अन्य कार्यकर्ताओं पर केस वापस लेने से संबंधित है.


रिपोर्ट में खुलासा: पहले से योजना बनाकर भीमा-कोरेगांव में की गई थी हिंसा, संभाजी व मिलिंद मुख्य साजिशकर्ता

आपको बता दें कि मुंबई के एक्टिविस्ट शकील अहमद शेख ने यह आरटीआई दाखिल की थी. इसमें उन्होंने जानकारी मांगी थी कि 2008 से अब तक नेताओं और अन्य लोगों के खिलाफ कितने मामले वापस लिए गए हैं. आरटीआई के जवाब में कहा गया कि इस तरह का पहला सर्कुलर 2017 में भाजपा शिवसेना के कार्यकाल के दौरान जारी किया गया. एनडीटीवी से बात करते हुए शकील अहमद शेख ने कहा, 'महाराष्ट्र सरकार पिछले एक सालों में 41 केस वापस ले चुकी है. जिसमें 14 मामले एमएलए, बीजेपी व शिवसेना नेता व पार्टी कार्यकर्ताओं के हैं'. 

टिप्पणियां

औरंगाबाद का नाम बदलकर किया जाएगा संभाजी नगर : शिवसेना 

VIDEO: भीमा-कोरेगांव हिंसा में गिरफ्तारियों पर उठे सवाल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement