"50 लाख लोगों की नौकरियां बचाने के लिए फिर से मॉल्स खोले महाराष्ट्र सरकार"

शॉपिंग सेंटर एसोसिएशन ऑफ इंडिया (SCAI) ने राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार को पत्र लिखा है.

SCAI के अनुसार, महाराष्ट्र में राज्य भर में 75 से अधिक मॉल हैं. उनमें से लगभग 50% मुंबई महानगरीय क्षेत्र में हैं, (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुंबई:

कोरोनावायरस लॉकडाउन के बाद से बंद बड़े महाराष्ट्र के मॉल्स को फिर से खोलने के लिए शॉपिंग सेंटर एसोसिएशन ऑफ इंडिया (SCAI) ने राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार को पत्र लिखा है. एससीआईए ने राज्य के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे को लिखे अपने पत्र में अपील की है कि लगभग 50 लाख लोगों की नौकरियों को बचाने के लिए सरकार को राज्य में फिर शॉपिंग मॉल खोलने की अनुमित देनी चाहिए. महाराष्ट्र में मॉल्स कोरोना महामारी के कारण 25 मार्च से लागू हुए लॉकडाउन के बाद से बंद हैं.

महाराष्ट्र में  COVID-19 के अब तक 3.47 लाख मामले सामने आ चुके हैं. राज्य में अब तक 12,854 लोगों की मौत हो चुकी है. दो कि देश में सबसे ज्यादा है. पत्र में कहा गया है कि यदि मॉल जल्द से जल्द नहीं खोले जाते हैं, तो लगभग 5 मिलियन नौकरियां (50 लाख) दांव पर हैं और अगस्त के शुरू में छंटनी को देखा जा सकता है. हालांकि अब तक, मुंबई और ठाणे में बड़े मॉल ने अभी तक किसी भी नौकरी से निकालने की कोई सूचना नहीं दी है. 

पत्र में कहा गया है कि लॉकडाउन ने 30 मॉल के निर्माण पर भी रोक लगा दी है और खुदरा उद्योग को पहले ही 1,00,000 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हो चुका है.

यह भी पढ़ें:- देशभर में खुले मॉल्स, होटल और धार्मिक स्थल, इन 10 बातों का रखें विशेष ख्याल

बता दें कि देशभर में मॉल पिछले महीने फिर से खोले गए, लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने कोविड मामलों की बढ़ती संख्या के कारण इन्हें नहीं खोला है. हालांकि, राज्य ने कहा है कि वह मॉल को फिर से खोलने के लिए दिल्ली, गुरुग्राम, बेंगलुरु और लखनऊ जैसे अन्य शहरों में लागू कड़े सुरक्षा मानकों को लागू करने के लिए तैयार है.

शॉपिंग सेंटर एसोसिएशन के अध्यक्ष अमिताभ तनेजा ने कहा, "महाराष्ट्र एक महत्वपूर्ण राज्य है (रिटेल मार्किट के लिए). राज्य में कम से कम 75 मॉल्स हैं, जो रिटेल अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं. शॉपिंग सेंटर ने कड़े एसओपी (मानक संचालन प्रक्रिया) बनाए हैं जिनका पूरी निष्ठा के साथ पालन किया जा रहा है. सरकार को अब मॉल को फिर से खोलना चाहिए. यह जीवन और आजीविका दोनों महत्वपूर्ण हैं."

SCAI के अनुसार, महाराष्ट्र में राज्य भर में 75 से अधिक मॉल हैं. उनमें से लगभग 50% मुंबई महानगरीय क्षेत्र में हैं, जिनमें ठाणे और कल्याण शामिल हैं, उनमें से लगभग 20% पुणे क्षेत्र में हैं और शेष भाग नासिक, कोल्हापुर, नागपुर और औरंगाबाद सहित छोटे शहरों में हैं. पुणे और मुंबई के कल्याण और ठाणे जैसे उपनगरों में कोरोनोवायरस के मामले बढ़ रहे हैं.

कोरोनावायरस महामारी में चार महीने, महाराष्ट्र में प्रतिदिन औसतन 7,000 मामले सामने आ रहे हैं. जिससे राज्य सरकार अत्यधिक सावधानी बरतती है, लेकिन स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने हाल ही में कहा कि वे जल्द ही मॉल खोलने की सोच रहे हैं. बता दें कि अत्यधिक संक्रामक वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के चलते कई काम धंधे बंद हो गए, लोगों को नौकरियां गंवानी पड़ी और जिनकी बच गई उन्हें अपनी सैलरी में बड़े कट को झेलना पड़ा. 

Newsbeep

अनलॉक 1.0: ढाई महीने बाद आज से खुले देशभर के मॉल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com