NDTV Khabar

पुणे में शिवसेना कार्यकर्ताओं ने बीमा कंपनी के कार्यालय में तोड़फोड़ की

सहायक पुलिस आयुक्त रवींद्र रासल ने बताया कि पूर्वाह्न करीब 11 बजे लगभग 35 कार्यकर्ता इफ्को टोकियो जनरल इंश्योरेंस कंपनी के कोरेगांव पार्क क्षेत्र स्थित कार्यालय में घुसे और तोड़फोड़ कर वहां से फरार हो गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुणे में शिवसेना कार्यकर्ताओं ने बीमा कंपनी के कार्यालय में तोड़फोड़ की
पुणे:

महाराष्ट्र के पुणे शहर में शिवसेना कार्यकर्ताओं ने बुधवार को फसल नुकसान को लेकर किसानों के बीमा दावों के निपटारे की मांग को लेकर एक निजी बीमा कंपनी के कार्यालय में तोड़फोड़ की. पुलिस ने यह जानकारी दी. सहायक पुलिस आयुक्त रवींद्र रासल ने बताया कि पूर्वाह्न करीब 11 बजे लगभग 35 कार्यकर्ता इफ्को टोकियो जनरल इंश्योरेंस कंपनी के कोरेगांव पार्क क्षेत्र स्थित कार्यालय में घुसे और तोड़फोड़ कर वहां से फरार हो गए. कोरेगांव पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि इसमें कई कंप्यूटर, लैपटॉप, खिड़कियों के शीशे और फर्नीचर क्षतिग्रस्त हो गया. घटना के बारे में सूचना प्राप्त होने पर पुलिस मौके पर पहुंची. उन्होंने बताया कि हमलावरों की मांग थी कि फसल नुकसान उठाने वाले किसानों को उनके बीमा दावे का भुगतान जल्द से जल्द किया जाए. रासल ने कहा, ‘‘वे शिवसेना के समर्थन में नारेबाजी कर रहे थे. हम हमलावरों की पहचान की प्रक्रिया में हैं.''

शिवसेना ने हाल में कहा था कि राज्य में करीब 50 लाख किसानों ने फसल बीमा लिया था. शिवसेना ने बीमा कंपनियों से कहा था कि वे दावों के भुगतान में कोई बाधा उत्पन्न नहीं करे. राज्य सरकार ने बेमौसम वर्षा से प्रभावित किसानों को तत्काल सहायता मुहैया कराने के लिए विशेष प्रावधान करते हुए गत सप्ताह 10 हजार करोड़ रुपये मंजूर किए थे.


टिप्पणियां

प्रारंभिक अनुमान के अनुसार राज्य में 325 तालुकाओं में 54.22 लाख हेक्टेयर क्षेत्र पर ज्वार, धान, कपास, मक्का, तुअर और सोयाबीन की फसल क्षतिग्रस्त हुई है. शनिवार को कैबिनेट की एक उप समिति की बैठक में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने संबंधित अधिकारियों को अपने अपने क्षेत्रों में जमीनी स्थिति की समीक्षा करने और मुहैया कराये जाने वाली सहायता को अंतिम रूप देने को कहा था.

फडणवीस ने गत सोमवार को राजधानी दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की थी. इस दौरान उन्होंने बेमौसम वर्षा से प्रभावित किसानों को होने वाले नुकसान के मुद्दे पर चर्चा की थी. उन्होंने बाद में कहा था कि शाह ने उन्हें बीमा कंपनियों के साथ बातचीत करने और प्रभावित किसानों की मदद का भरोसा दिया था.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement